चित्रकूट : दुराचारी अपर एसडीएम के सरकारी आवास पर पुलिस ने चस्पा की कुर्की की नोटिस

jhansi police
चित्रकूट : दुराचारी अपर एसडीएम के सरकारी आवास पर पुलिस ने चस्पा की कुर्की की नोटिस

लखनऊ। चित्रकूट पुलिस ने बुधवार को अपर एसडीएम सौजन्य कुमार के सरकारी आवास पर कुर्की का नोटिस चस्पा कर दिया। वो झांसी में दर्ज रेप के मामले में फरार चल रहे हैं। न्यायालय ने उनके खिलाफ एनबीडब्लू भी जारी किया था। मौजूदा समय में वह निलंबित है।

Police Notice Of Attachment On Misdemeanor Upper Sdm Government Residence :

जालौन की एक युवती ने झांसी के छितरी थाने में अपर एसडीएम सौजन्य कुमार के खिलाफ रेप का मामला कई माह पहले दर्ज कराया था। आरोपी इससे पहले झांसी में तैनात था। पीड़िता का आरोप है कि चित्रकूट में तैनाती के दौरान भी अपर एसडीएम ने उसे अपने आवास पर बुलाया था। फिलहाल ये पूरा मामला सीजेएम कोर्ट झांसी में विचाराधीन है। कोर्ट ने फरार आरोपी के खिलाफ एनबीडब्लू भी जारी कर दिया है।

फिलहाल इसके बाद से पुलिस तलाश कर रही है। बुधवार को सुबह छितरी थाने के इंस्पेक्टर अनिल सिंह टीम के साथ मुख्यालय आए। उन्होंने अपर एसडीएम के खिलाफ सीजेएम न्यायालय से सीआरपीसी 82 के तहत कुर्की का नोटिस जारी होने की जानकारी कर्वी कोतवाली पुलिस को दी। इसके बाद स्थानीय पुलिस के साथ टीम ने सरकारी आवास पहुंचकर अपर एसडीएम की जानकारी ली।

लखनऊ। चित्रकूट पुलिस ने बुधवार को अपर एसडीएम सौजन्य कुमार के सरकारी आवास पर कुर्की का नोटिस चस्पा कर दिया। वो झांसी में दर्ज रेप के मामले में फरार चल रहे हैं। न्यायालय ने उनके खिलाफ एनबीडब्लू भी जारी किया था। मौजूदा समय में वह निलंबित है। जालौन की एक युवती ने झांसी के छितरी थाने में अपर एसडीएम सौजन्य कुमार के खिलाफ रेप का मामला कई माह पहले दर्ज कराया था। आरोपी इससे पहले झांसी में तैनात था। पीड़िता का आरोप है कि चित्रकूट में तैनाती के दौरान भी अपर एसडीएम ने उसे अपने आवास पर बुलाया था। फिलहाल ये पूरा मामला सीजेएम कोर्ट झांसी में विचाराधीन है। कोर्ट ने फरार आरोपी के खिलाफ एनबीडब्लू भी जारी कर दिया है। फिलहाल इसके बाद से पुलिस तलाश कर रही है। बुधवार को सुबह छितरी थाने के इंस्पेक्टर अनिल सिंह टीम के साथ मुख्यालय आए। उन्होंने अपर एसडीएम के खिलाफ सीजेएम न्यायालय से सीआरपीसी 82 के तहत कुर्की का नोटिस जारी होने की जानकारी कर्वी कोतवाली पुलिस को दी। इसके बाद स्थानीय पुलिस के साथ टीम ने सरकारी आवास पहुंचकर अपर एसडीएम की जानकारी ली।