कभी भी गिरफ्तार हो सकते मंत्री गायत्री प्रसाद प्रजापति

लखनऊ। दुष्कर्म के आरोपित काबीना मंत्री व अमेठी से सपा के उम्मीदवार गायत्री प्रसाद प्रजापति के गौतमपल्ली स्थित सरकारी आवास पर मंगलवार को पुलिस ने छापा मारा। पड़ताल के दौरान पुलिस ने कमरों से कुछ साक्ष्य जुटाए और वहां मौजूद पीएसी जवानों से पूछताछ भी की। करीब आधे घण्टे तक मुआयना करने के बाद पुलिस लौट गयी। पुलिस सरकारी आवास के तीन कमरों में बंद ताले तोड़वाने के लिए कोर्ट से अनुमति मांगने की तैयारी कर रही है। मंत्री पर आरोप लगाने वाली चित्रकूट की पीड़िता का बयान दर्ज होने के साथ ही पुलिस अधिकारियों ने गिरफ्तारी के लिए दो टीमें लगायी थी।




सोमवार को पुलिस अमेठी गायत्री को गिरफ्तार करने गयी थी लेकिन उससे पहले ही वह वहां से चले गये। बाद में पुलिस को खबर मिली कि गायत्री प्रसाद प्रजापति लखनऊ के लिए रवाना हुए हैं।मंगलवार को मामले की जांच कर रही सीओ आलमबाग अमिता सिंह, सीओ हजरतगंज अवनीश मिश्र ने गौतमपल्ली पुलिस के साथ मंत्री गायत्री प्रसाद प्रजापति के घर पर छापा मारा। छानबीन के दौरान तीन कमरों में ताले लगे मिले। अन्य कमरों की तलाशी के दौरान कुछ साक्ष्य मिले हैं, जिन्हें संकलित कर लिया गया है।




जांच के दौरान जवानों ने बताया कि जब से चुनाव शुरू हुआ है, मंत्री जी नहीं आये। करीब आधे घण्टे तक जांच करने के बाद पुलिस वापस लौट गयी। सीओ अमिता सिंह का कहना है कि पीड़िता की बच्ची दिल्ली एम्स में भर्ती है। उसके स्वस्थ होते ही 161 व कोर्ट में कलमबंद बयान (164) कराया जाएगा।