राज्यसभा चुनाव को लेकर सियासत तेज, गुजरात कांग्रेस ने 65 विधायकों को रिसॉर्ट भेजा

sonia and rahul
कांग्रेस में बड़े बदलाव की मांग, 23 नेताओं ने सोनिया गांधी को लिखी चिट्ठी, कल हो सकती है CWC की बैठक

गांधीनगर। गुजरात में राज्यसभा चुनाव को लेकर राजनीति तेज हो गयी है। इस बीच कांग्रेस के 8 विधायकों के इस्तीफों के बाद पार्टी के अंदर घमासान मचा हुआ है। कांग्रेस बीजेपी पर खरीद फरोख्त का आरोप लगा रही है। वहीं ऐसी स्थिति में कांग्रेस ने अपने विधायकों को बचाने का सिलसिला शुरू कर दिया है।

Politics Intensified Over Rajya Sabha Election Gujarat Congress Sends 65 Mlas To Resort :

सूत्रों की माने तो कांग्रेस ने करीब 65 विधायकों को रिसॉर्ट में भेज दिया है। राज्यसभा की 18 सीटों के लिए 19 जून को मतदान होगा, इनमें गुजरात की 4 सीट भी शामिल है। सूत्रों की माने तो, कांग्रेस ने अपने 65 विधायकों को अलग-अलग जोन में रिजॉर्ट में भेज दिया है।

उत्तरी क्षेत्र के 21 विधायक अम्बाजी के रिजॉर्ट पहुंचे हैं। हर जोन की जिम्मेदारी बड़े नेताओं को सौंपी गई है। बता दें कि मार्च महीने से लेकर अबतक कांग्रेस के 8 विधायक इस्तीफा दे चुके हैं। सूत्रों के मुताबिक, कांग्रेस में फूट पड़ती दिखाई दे रही है। अब तक कांग्रेस के 8 विधायक इस्तीफा दे चुके हैं। दो दिन पहले करजन विधानसभा क्षेत्र के विधायक बृजेश मेरजा ने भी अपना इस्तीफा विधानसभा अध्यक्ष राजेंद्र त्रिवेदी को दे दिया था।

इस बीच कांग्रेस ने बीजेपी पर विधायकों के खरीद-फरोख्त का आरोप लगाया है। पिछले दिनों ट्वीट करते हुए कांग्रेस ने कहा था कि गुजरात में बीजेपी सरकार कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने में सफल नहीं हो सकी है, लेकिन विधायकों के खरीद फरोख्त पर उसका पूर्ण नियंत्रण है। क्या कोई भी सरकार या कोई भी पार्टी इस स्तर पर पहुंच सकती है।

गांधीनगर। गुजरात में राज्यसभा चुनाव को लेकर राजनीति तेज हो गयी है। इस बीच कांग्रेस के 8 विधायकों के इस्तीफों के बाद पार्टी के अंदर घमासान मचा हुआ है। कांग्रेस बीजेपी पर खरीद फरोख्त का आरोप लगा रही है। वहीं ऐसी स्थिति में कांग्रेस ने अपने विधायकों को बचाने का सिलसिला शुरू कर दिया है। सूत्रों की माने तो कांग्रेस ने करीब 65 विधायकों को रिसॉर्ट में भेज दिया है। राज्यसभा की 18 सीटों के लिए 19 जून को मतदान होगा, इनमें गुजरात की 4 सीट भी शामिल है। सूत्रों की माने तो, कांग्रेस ने अपने 65 विधायकों को अलग-अलग जोन में रिजॉर्ट में भेज दिया है। उत्तरी क्षेत्र के 21 विधायक अम्बाजी के रिजॉर्ट पहुंचे हैं। हर जोन की जिम्मेदारी बड़े नेताओं को सौंपी गई है। बता दें कि मार्च महीने से लेकर अबतक कांग्रेस के 8 विधायक इस्तीफा दे चुके हैं। सूत्रों के मुताबिक, कांग्रेस में फूट पड़ती दिखाई दे रही है। अब तक कांग्रेस के 8 विधायक इस्तीफा दे चुके हैं। दो दिन पहले करजन विधानसभा क्षेत्र के विधायक बृजेश मेरजा ने भी अपना इस्तीफा विधानसभा अध्यक्ष राजेंद्र त्रिवेदी को दे दिया था। इस बीच कांग्रेस ने बीजेपी पर विधायकों के खरीद-फरोख्त का आरोप लगाया है। पिछले दिनों ट्वीट करते हुए कांग्रेस ने कहा था कि गुजरात में बीजेपी सरकार कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने में सफल नहीं हो सकी है, लेकिन विधायकों के खरीद फरोख्त पर उसका पूर्ण नियंत्रण है। क्या कोई भी सरकार या कोई भी पार्टी इस स्तर पर पहुंच सकती है।