शिवसेना ने सोनू सूद के कदम को राजनीति से जोड़ा, कहा-लॉकडाउन के दौरान एक महात्मा तैयार हो गया है

sonu
शिवसेना ने सोनू सूद के कदम को राजनीति से जोड़ा, कहा-लॉकडाउन के दौरान एक महात्मा तैयार हो गया है

मुंबई। मुंबई में लॉकडाउन के दौरान फंसे प्रवासी मजदूरों को घर भेजकर चर्चा में आए अभिनेता सोनू सूद की जमकर तारिफ हो रही है। देशभर में सोनू सूद के इस कदम को सराहा जा रहा है। वहीं, सोनू सूद के इस कदम को शिवसेना नेता संजय राउत ने राजनीति से जोड़ दिया है। संजय राउत ने रविवार को कहा कि सोनू सूद बेहतरीन अभिनेता हैं।

Politics On Sending Migrants Home Shiv Sena Linked Sonu Soods Move To Politics :

फिल्मों के लिए एक अलग निर्देशक होता है। उन्होंने जो काम किया है वह अच्छा है लेकिन इस बात की संभावना है कि उनके पीछे एक राजनीतिक निर्देशक हो। वहीं, इससे पहले भी संजय राउत ने सोनू सूद पर सवाल उठाया था। उन्होंने कहा था कि वह बहुत चालाकी से ‘महात्मा’ सूद बनने की ओर हैं।

रविवार को शिवसेना के मुखपत्र ‘सामना’ में संजय राउत ने पूछा कि ‘आखिर जब लॉकडाउन में लोगों को कहीं आने-जाने की अनुमति नहीं है तो बिना किसी राजनीतिक दल की मदद के उन्हें बसें कैसे मिल जा रही हैं?’ राउत लिखते हैं कि लॉकडाउन में अचानक एक नया ‘महात्मा’ सूद आया है।

राउत ने आगे लिखा कि ‘जब राज्य सरकारें किसी प्रवासी मजदूर को कहीं जाने की अनुमति नहीं दे रही हैं तो वो कहां जा रहे हैं?’ सोनू सूद पर हमला करते हुए राउत ने यहां तक कहा कि बहुत जल्दी ही वो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मिल सकते हैं और मुंबई के सेलिब्रिटी मैनेजर बन सकते हैं। संजय राउत यहीं नहीं रुके, उन्होंने कहा कि ‘सोनू सूद एक अभिनेता हैं, वो पैसे के लिए कुछ भी कर सकते हैं। अभिनय करना ही उनका पेशा है।’

मुंबई। मुंबई में लॉकडाउन के दौरान फंसे प्रवासी मजदूरों को घर भेजकर चर्चा में आए अभिनेता सोनू सूद की जमकर तारिफ हो रही है। देशभर में सोनू सूद के इस कदम को सराहा जा रहा है। वहीं, सोनू सूद के इस कदम को शिवसेना नेता संजय राउत ने राजनीति से जोड़ दिया है। संजय राउत ने रविवार को कहा कि सोनू सूद बेहतरीन अभिनेता हैं। फिल्मों के लिए एक अलग निर्देशक होता है। उन्होंने जो काम किया है वह अच्छा है लेकिन इस बात की संभावना है कि उनके पीछे एक राजनीतिक निर्देशक हो। वहीं, इससे पहले भी संजय राउत ने सोनू सूद पर सवाल उठाया था। उन्होंने कहा था कि वह बहुत चालाकी से 'महात्मा' सूद बनने की ओर हैं। रविवार को शिवसेना के मुखपत्र 'सामना' में संजय राउत ने पूछा कि 'आखिर जब लॉकडाउन में लोगों को कहीं आने-जाने की अनुमति नहीं है तो बिना किसी राजनीतिक दल की मदद के उन्हें बसें कैसे मिल जा रही हैं?' राउत लिखते हैं कि लॉकडाउन में अचानक एक नया 'महात्मा' सूद आया है। राउत ने आगे लिखा कि 'जब राज्य सरकारें किसी प्रवासी मजदूर को कहीं जाने की अनुमति नहीं दे रही हैं तो वो कहां जा रहे हैं?' सोनू सूद पर हमला करते हुए राउत ने यहां तक कहा कि बहुत जल्दी ही वो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मिल सकते हैं और मुंबई के सेलिब्रिटी मैनेजर बन सकते हैं। संजय राउत यहीं नहीं रुके, उन्होंने कहा कि 'सोनू सूद एक अभिनेता हैं, वो पैसे के लिए कुछ भी कर सकते हैं। अभिनय करना ही उनका पेशा है।'