बच्चे ने निबंध में लिखा प्रदूषण है दिल्ली का प्रमुख त्योहार, सोशल मीडिया पर हो रहा वायरल

बच्चे ने निबंध में लिखा प्रदूषण है दिल्ली का प्रमुख त्योहार, सोशल मीडिया पर हो रहा वायरल
बच्चे ने निबंध में लिखा प्रदूषण है दिल्ली का प्रमुख त्योहार, सोशल मीडिया पर हो रहा वायरल

नई दिल्ली। दिल्ली-NCR में जहरीली हवाओं की वजह से प्रदूषण अब खतरनाक स्तर को पार कर गया है। बढ़ते प्रदूषण को देखते हुए दिल्ली के स्कूलो में बच्चों की 14 और 15 नवंबर को दो दिनों की छुट्टी कर दी गई थी। वहीं इसी बीच सोशल मीडिया पर एक बच्चे की राइटिंग में एक निबंध वायरल हो रहा है। प्रदूषण पर लिखे गए इस निबंध में बच्चे ने अपनी भावनाएं व्यक्त की हैं, बच्चे ने प्रदूषण को दिल्ली का प्रमुख त्योहार बताया है वहीं सभी लोग अब बच्चे के इस निबंध को व्यंग्य के तौर पर साझा कर रहे हैं।

Pollution Essay By A Student Delhi Viral In Social Media Read Here :

बच्चे ने निबंध में लिखा है कि प्रदूषण दिल्ली का प्रमुख त्योहार है। यह हमेशा दिवाली के बाद शुरू होता है। इसमें हमें दिवाली से भी ज्यादा हॉलीडे मिलते हैं. दीवाली में हमें 4 हॉलीडे मिलते हैं। लेकिन प्रदूषण में हमें 6+2=8 हॉली डे मिलते हैं। इसमें लोग अलग-अलग मास्क पहनकर घूमते हैं। घरों में काली मिर्च, शहद व अदरक ज्यादा प्रयोग किए जाते हैं यह बच्चों के लिए अधिक प्रिय है।

अपने इस निबंध में स्टूडेंट ने स्कूलों की छुट्टी का जिक्र करते हुए छुट्टियों की खास वजह भी बताई। जैसे वायु प्रदूषण के चलते स्कूल दो बार बंद किए जा चुके हैं, इससे बच्चों के मन में भी प्रदूषण को लेकर एक समझ विकसित हो रही है। हाल ये हो गया है कि नर्सरी कक्षाओं के बच्चे भी पर्यावरण में फैल रहे जहर के खतरे को भांपने लगे हैं।

जैसे ही बच्चे के इस निबंध को सोशल मीडिया पर डाला गया, उसे फेसबुक, ट्विटर से लेकर तमाम सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर शेयर होने लगा। लोगों ने बच्चों की समझ को बड़ों की समझ से बेहतर माना, तो कुछ लोगों ने साझा करते हुए लिखा कि प्रदूषण से जंग में आने वाली पीढ़ी ही हमें बचाएगी। यूजर्स ने निबंध को पढ़कर चिंता जताई कि वातावरण की स्थिति लगातार खराब हो रही है।

नई दिल्ली। दिल्ली-NCR में जहरीली हवाओं की वजह से प्रदूषण अब खतरनाक स्तर को पार कर गया है। बढ़ते प्रदूषण को देखते हुए दिल्ली के स्कूलो में बच्चों की 14 और 15 नवंबर को दो दिनों की छुट्टी कर दी गई थी। वहीं इसी बीच सोशल मीडिया पर एक बच्चे की राइटिंग में एक निबंध वायरल हो रहा है। प्रदूषण पर लिखे गए इस निबंध में बच्चे ने अपनी भावनाएं व्यक्त की हैं, बच्चे ने प्रदूषण को दिल्ली का प्रमुख त्योहार बताया है वहीं सभी लोग अब बच्चे के इस निबंध को व्यंग्य के तौर पर साझा कर रहे हैं। बच्चे ने निबंध में लिखा है कि प्रदूषण दिल्ली का प्रमुख त्योहार है। यह हमेशा दिवाली के बाद शुरू होता है। इसमें हमें दिवाली से भी ज्यादा हॉलीडे मिलते हैं. दीवाली में हमें 4 हॉलीडे मिलते हैं। लेकिन प्रदूषण में हमें 6+2=8 हॉली डे मिलते हैं। इसमें लोग अलग-अलग मास्क पहनकर घूमते हैं। घरों में काली मिर्च, शहद व अदरक ज्यादा प्रयोग किए जाते हैं यह बच्चों के लिए अधिक प्रिय है। अपने इस निबंध में स्टूडेंट ने स्कूलों की छुट्टी का जिक्र करते हुए छुट्टियों की खास वजह भी बताई। जैसे वायु प्रदूषण के चलते स्कूल दो बार बंद किए जा चुके हैं, इससे बच्चों के मन में भी प्रदूषण को लेकर एक समझ विकसित हो रही है। हाल ये हो गया है कि नर्सरी कक्षाओं के बच्चे भी पर्यावरण में फैल रहे जहर के खतरे को भांपने लगे हैं। जैसे ही बच्चे के इस निबंध को सोशल मीडिया पर डाला गया, उसे फेसबुक, ट्विटर से लेकर तमाम सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर शेयर होने लगा। लोगों ने बच्चों की समझ को बड़ों की समझ से बेहतर माना, तो कुछ लोगों ने साझा करते हुए लिखा कि प्रदूषण से जंग में आने वाली पीढ़ी ही हमें बचाएगी। यूजर्स ने निबंध को पढ़कर चिंता जताई कि वातावरण की स्थिति लगातार खराब हो रही है।