1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. इलाहाबाद यूनिवर्सिटी में लगे ‘Pay Money Tech Jobs QR Code’ वाले पोस्टर, फोटो सोशल मीडिया पर वायरल

इलाहाबाद यूनिवर्सिटी में लगे ‘Pay Money Tech Jobs QR Code’ वाले पोस्टर, फोटो सोशल मीडिया पर वायरल

इलाहाबाद विश्वविद्यालय (Allahabad University) फीस बढ़ोत्तरी के विरोध आंदोलन की वजह से लंबे समय से अशांत चल रहा है। इसी बीच परिसर में शुक्रवार सुबह पहुंचे छात्रों को जगह-जगह दीवारों पर डिजिटल पेमेंट एप (Digital Payment App) के क्यूआर कोड (QR Code) वाले पोस्टर लगे दिखे। इसमें कुलपति, कुलसचिव, वित्त अधिकारी, राज्य विश्वविद्यालय के जनंसपर्क अधिकारी सहित कई प्रोफेसरों के फोटो थे।

By संतोष सिंह 
Updated Date

प्रयागराज। इलाहाबाद विश्वविद्यालय (Allahabad University) फीस बढ़ोत्तरी के विरोध आंदोलन की वजह से लंबे समय से अशांत चल रहा है। इसी बीच परिसर में शुक्रवार सुबह पहुंचे छात्रों को जगह-जगह दीवारों पर डिजिटल पेमेंट एप (Digital Payment App) के क्यूआर कोड (QR Code) वाले पोस्टर लगे दिखे। इसमें कुलपति, कुलसचिव, वित्त अधिकारी, राज्य विश्वविद्यालय के जनंसपर्क अधिकारी सहित कई प्रोफेसरों के फोटो थे।

पढ़ें :- यूपी देश के टॉप-4 राज्यों में शामिल, 75 लाख से अधिक नल कनेक्शन देने का आंकड़ा किया पार

वायरल पोस्टर को हटाने का काम शुरू

इन पर लिखा था पे मनी टेक जाब (Pay Money Tech Jobs)। थोड़ी ही देर में इन पोस्टर की फोटो सोशल मीडिया पर वायरल होने लगी। इसके बाद जाकर इवि प्रशासन की नींद खुली और पोस्टरों को दीवारों से हटाने का काम शुरू हुआ।

इलाहाबाद विश्वविद्यालय (Allahabad University)  में इन दिनों कई विभागों में शिक्षकाें की नियुक्ति प्रक्रिया चल रही है। साथ ही छह नवंबर को गैर शैक्षणिक ए व बी वर्ग की भर्ती परीक्षा होनी है। गैर शैक्षणिक पदों पर होने वाली परीक्षा को लेकर छात्र पहले ही विरोध प्रदर्शन कर ज्ञापन दे चुके हैं। इस बीच शरारती तत्वों ने दीवारों पर यूपीआइ पेमेंट ऐप (UPI Payment App) के क्यूआर कोड (QR code) पर फोन नंबर और नाम के साथ फोटो वाले पोस्टर इवि परिसर में चस्पा कर दिए।

सुबह जैसे ही विश्वविद्यालय खुला तो छात्रसंघ भवन वाले छात्र पर छात्रों ने जगह-जगह पोस्टर चिपके देखे। कुछ पोस्टर अंदर भी चस्पा किए गए थे। छात्रों ने इसकी फोटो लेकर इंटरनेट मीडिया पर प्रसारित करना शुरू कर दिया और कुछ ही देर में यह फोटो विभिन्न सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर फैल गया।

पढ़ें :- Shanti Bhushan Passes Away: पूर्व कानून मंत्री शांति भूषण नहीं रहे, 97 साल की उम्र में ली अंतिम सांस

पीआरओ के बयान का इंतजार

इस मसले पर इवि प्रशासन या पीआरओ के बयान का इंतजार है।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...