बिजली चोरों की आई सामत, खुला यूपी का पहला बिजली ​थाना

Electricity Station
बिजली चोरों की आई सामत, खुला यूपी का पहला बिजली ​थाना

मथुरा। अब बिजली चोर हो जायें होशियार, जी हां बिजली चोरी रोकने के लिए अब यूपी में पहला बिजली थाना खुल गया है। यह थाना मथुरा में खोला गया और पहले ​ही दिन इस थाने में बिजली चोरी के 8 मुकदमे भी दर्ज कर लिए गये। ऐसे बिजली विभाग को बिजली चोरी के मुकदम दर्ज करवाने के लिए पुलिस थाने े चक्कर काटने पड़ते थे इसलिए मथुरा के कृष्णानगर बिजलीघर में ​यह थाना बनाया गया है।

Power Thieves Come The First Power Station Of Up Opened :

मथुरा के ग्रामीण क्षेत्र के अधीक्षण अभियंता विनोद गंगवार ने जानकारी देते हुए बताया कि यह थाना कृष्णानगर के बिजलीघर परिसर के अन्दर ही बनाया गया है और इसमे 4 कमरे बने हैं। इस थाने में 5 उप निरीक्षक,9 हैड कांस्टेबल, 9 कांस्टेबल, 4 मुंशी-सह-कम्प्यूटर ऑपरेटरों को नियुक्ति किया गया है। इंस्पेक्टर वीरपाल सिंह को बिजली थाने का पहला थाना प्रभारी बनाया गया है।

विनोद गंगवार ने बताया कि “राज्य सरकार एवं विद्युत विभाग इस मामले में पिछले दो साल से प्रयास कर रहा था, लेकिन जमीन भी नही उपलब्ध हो रही थी और पुलिस बल भी नही मिल पा रही थी। लेकिन जब ये सब दिक्कते दूर हो गयी तो गुरूवार को बिजली थाने का उदघाटन किया जा सका। उन्होने बताया कि पहले दिन 8 मुकदमे दर्ज किये गये हैं जो नवादा के अवर अभियंता शैलेंद्र अग्रवाल ने दर्ज करवाये हैं।

अधिकारियों का कहना था कि पहले बिजली चोरी के मामले दर्ज तो हो जाते थे लेकिन जब कोर्ट मे सुनवाई होती थी तो कई मामलो में पुलिस ने मामले गलत बता दिये। पुलिस का यही कहना रहता था कि जब कार्रवाई के दौरान विशेष थाने का पुलिस बल मौजूद रहेगा तब चूक की कोई गंजाईश नही बचेगी। अधिकारियों ने बताया कि अब मथुरा में सारे बिजली चोरी के मामले यहीं पर दर्ज किये जायेंगे।

मथुरा। अब बिजली चोर हो जायें होशियार, जी हां बिजली चोरी रोकने के लिए अब यूपी में पहला बिजली थाना खुल गया है। यह थाना मथुरा में खोला गया और पहले ​ही दिन इस थाने में बिजली चोरी के 8 मुकदमे भी दर्ज कर लिए गये। ऐसे बिजली विभाग को बिजली चोरी के मुकदम दर्ज करवाने के लिए पुलिस थाने े चक्कर काटने पड़ते थे इसलिए मथुरा के कृष्णानगर बिजलीघर में ​यह थाना बनाया गया है। मथुरा के ग्रामीण क्षेत्र के अधीक्षण अभियंता विनोद गंगवार ने जानकारी देते हुए बताया कि यह थाना कृष्णानगर के बिजलीघर परिसर के अन्दर ही बनाया गया है और इसमे 4 कमरे बने हैं। इस थाने में 5 उप निरीक्षक,9 हैड कांस्टेबल, 9 कांस्टेबल, 4 मुंशी-सह-कम्प्यूटर ऑपरेटरों को नियुक्ति किया गया है। इंस्पेक्टर वीरपाल सिंह को बिजली थाने का पहला थाना प्रभारी बनाया गया है। विनोद गंगवार ने बताया कि "राज्य सरकार एवं विद्युत विभाग इस मामले में पिछले दो साल से प्रयास कर रहा था, लेकिन जमीन भी नही उपलब्ध हो रही थी और पुलिस बल भी नही मिल पा रही थी। लेकिन जब ये सब दिक्कते दूर हो गयी तो गुरूवार को बिजली थाने का उदघाटन किया जा सका। उन्होने बताया कि पहले दिन 8 मुकदमे दर्ज किये गये हैं जो नवादा के अवर अभियंता शैलेंद्र अग्रवाल ने दर्ज करवाये हैं। अधिकारियों का कहना था कि पहले बिजली चोरी के मामले दर्ज तो हो जाते थे लेकिन जब कोर्ट मे सुनवाई होती थी तो कई मामलो में पुलिस ने मामले गलत बता दिये। पुलिस का यही कहना रहता था कि जब कार्रवाई के दौरान विशेष थाने का पुलिस बल मौजूद रहेगा तब चूक की कोई गंजाईश नही बचेगी। अधिकारियों ने बताया कि अब मथुरा में सारे बिजली चोरी के मामले यहीं पर दर्ज किये जायेंगे।