प्रद्युम्‍न हत्‍याकांड: कंडक्‍टर की पत्‍नी ने कहा, गुनाह कबूलवाने के लिए नशा भी दिया

गुड़गांव: रेयान स्कूल के सात साल के छात्र प्रद्युम्न ठाकुर की हत्या के सिलसिले में गिरफ्तार स्कूल बस कंडक्टर अशोक कुमार बुधवार को जेल से रिहा हो गया. अशोक ने घर लौटने पर मीडिया को धन्‍यवाद कहा. आपको बता दें कि गुड़गांव की एक अदालत ने उसकी जमानत मंजूर की थी.

भोंडसी जेल से रिहा किये जाने के बाद अशोक वहां से सीधे सोहना के घांबरोज गांव में अपने घर गया. उसके साथ उसके वकील मोहित वर्मा और परिवार के सदस्य थे. अशोक की पत्‍नी ने एएनआई ने कहा कि पुलिस ने उसके पति को उल्टा लटकाकर मारा और टॉर्चर किया. उसने बताया कि अशोक से गुनाह कबूलवाने के लिए नशा भी दिया.

{ यह भी पढ़ें:- मॉल में चल रहा था देह व्यापार, पुलिस पहुंची तो इस हालत में मिली लड़कियां }

खबरों के मुताबिक ग्राम प्रधान और अन्य निवासियों ने अशोक के पिता अमीरचंद को 50 हजार रुपये की जमानत राशि जुटाने में मदद की.

सीबीआई ने पिछले दिनों इस मामले में रेयान स्कूल के ही 16 वर्ष के एक छात्र को गिरफ्तार किया था जिसके बाद वर्मा ने अशोक की जमानत के लिए अदालत में अर्जी दी थी.

{ यह भी पढ़ें:- जब अस्पताल ने दे दी महिला की जगह पुरुष की डेड बॉडी, अंतिम संस्कार से ठीक पहले हुआ खुलासा }

Loading...