1. हिन्दी समाचार
  2. सीएम सिटी में ऑनलाइन क्‍लास में पाकिस्‍तान और पाकिस्‍तानी सेना का गुणगान

सीएम सिटी में ऑनलाइन क्‍लास में पाकिस्‍तान और पाकिस्‍तानी सेना का गुणगान

Praise Of Pakistan And The Pakistan Army In The Online Class In Cm City

By ravijaiswal 
Updated Date

पढ़ें :- इंग्लैंड के खिलाफ होने वाले टेस्ट सीरीज के लिए भारतीय टीम का ऐलान, इनको मिली जगह

गोरखपुरः मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ के शहर गोरखपुर के एक स्‍कूल की ऑनलाइन क्‍लास में पाकिस्‍तान और पा‍किस्‍तानी सेना का गुणगान किया गया है. क्‍लास 4 की शिक्षिका ने ऑनलाइन क्लास में संज्ञा की परिभाषा में जब पाकिस्‍तान और पाकिस्‍तानी सेना का गुणगान किया, तो छात्र-छात्राओं के साथ उनके अभिभावकों ने स्‍कूल प्रबंधन से इसकी शिकायत की. स्‍कूल प्रबंधन ने शिक्षिका को नोटिस भेजा, तो उन्‍होंने अपनी चूक स्‍वीकार कर ली. अब स्‍कूल प्रबंधन शिक्षिका के खिलाफ पुलिस में शिकायत दर्ज कर कानूनी कार्रवाई के मूड में है.

गोरखपुर के गोरखनाथ मंदिर के ठीक उत्‍तर में जीएन नेशनल पब्लिक स्‍कूल है. कोरोना वायरस के संक्रमण के कारण स्‍कूल-कालेज बंद हैं. ऐसे में शिक्षकों को वाट्सएप पर ऑनलाइन ग्रुप के माध्‍यम से कक्षाओ के संचालन की जिम्‍मेदारी सौंपी गई है. 22 मई को जीएन नेशनल पब्लिक स्‍कूल के कक्षा 4-ए की आनलाइन क्‍लास में 11 साल से पढ़ा रहीं शिक्षिका शादाब खानम ने नाउन की परिभाषा को समझाते हुए उदाहरण के तौर पर बच्‍चों को बताया कि ‘राशिद मिनहास वीर सिपाही है.’ इसके साथ ही ‘पाकिस्‍तान इज ऑवर डीयर होमलैंड’ और ‘द काऊ इस ए यूज फुल एनीमल’ बताया. इसके अलावा उन्‍होंने उदाहरण में ‘दिस इज ऑवर क्‍लास’. ‘आई विल ज्‍वाइन द पाक आर्मी’ और ‘दे आर गुड कंपनी’. का उदाहरण दिया है.

जीएन नेशनल पब्लिक स्कूल की ऑनलाइन क्लास में नाउन समझाने के लिए व्हाट्एसएप ग्रुप में पोस्ट पाठ्य सामग्री में पाकिस्तान के महिमा मंडन वाले कई उदाहरण दिए गए हैं. कक्षा चार-ए की क्लास टीचर शादाब खानम ने यह अजीबोगरीब हरकत की है. जब ये पोस्‍ट सोशल मीडिया पर वायरल हुआ, तो खलबली मच गई. पता चला कि अंग्रेजी की शिक्षिका व क्लास टीचर शादाब खानम ने पाकिस्तान के अलग-अलग तथ्यों का उदाहरण देकर नाउन का मतलब समझाया था. शिक्षिका ने अपने मोबाइल नंबर से व्हाट्स एप ग्रुप पर जो पीडीएफ फाइल उपलब्ध कराई थी, उसमें पाकिस्तान से संबंधित तीन अलग-अलग तथ्य रहे हैं.

एक में पाकिस्तानी आर्मी (I will join pak army) ज्वाइन करने का तथ्य था. तो दूसरे में पाकिस्तान हमारी मातृभूमि (Pakistan is our dear homeland) बताया गया. तीसरे उदाहरण में पाकिस्तानी पायलट राशिद मिन्हास (Rashid minhas was a brave soldier) की बहादुरी का जिक्र था.

पढ़ें :- कुर्की के आदेश के बाद नसीमुद्दीन और रामअचल राजभर ने कोर्ट में किया सरेंडर, भेजे गए जेल

पीडीएफ फाइल जैसे ही अभिभावकों के हाथ लगी, वैसे ही हंगामा खड़ा हो गया. अभिभावकों ने इस मामले की व्हाट्स एप पर ही लिखित शिकायत स्कूल प्रबंधन से की और बच्चों पर राष्ट्रविरोधी मानसिकता थोपने का आरोप लगाया. बच्चों के व्हाट्स एप ग्रुप की एडमिन शादाब खानम ही हैं। इस ग्रुप में 40-50 बच्चे जुड़े हैं. इस मामले में शिक्षिका मीडिया के सामने अपना पक्ष रखने के लिए सामने नहीं आईं. जीएन नेशनल पब्लिक स्‍कूल के प्रबंधक गोरख सिंह ने कहा कि ये मानवीय भूल नहीं हो सकती है. जब शिक्षकों को स्‍कूल में पढ़ाने के लिए इंटरव्‍यू लिया जाता है, तो उनका क्‍वालीफिकेशन और उनके व्‍यवहार के बारे में देखा जाता है.

प्रबंधक गोरख सिंह ने कहा कि आनलाइन क्‍लास में इस तरह की गलती के लिए शिक्षिका शादाब खानम को नोटिस दिया गया है. उन्‍होंने अपनी गलती स्‍वीकार की है. उन्‍होंने सफाई दी है कि मानवीय भूल के कारण ऐसा हो गया. लेकिन, स्‍कूल प्रबंधन ने इस पर सख्‍त रुख अपनाते हुए उन्‍हें नौकरी से निकालने का फैसला कर लिया है. वहीं इस मामले में अपने लीगल एडवाइजर की राय लेकर एक हफ्ते का नोटिस दिया गया है. उन्‍होंने कहा कि जरूरत पड़ी, तो उनके खिलाफ कानूनी कार्रवाई के साथ पुलिस में शिकायत भी दर्ज कराई जाएगी.

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...