पीएम मोदी पर भड़के प्रकाश राज, बोले- ये तो मेरे से भी बड़े एक्टर निकले

नई दिल्ली एक्टर प्रकाश राज ने जर्नलिस्ट गौरी लंकेश के मर्डर पर पीएम नरेंद्र मोदी की चुप्पी की निंदा करते हुए अपने पांचाें नैशनल अवॉर्ड लौटाने की धमकी दी है। दक्षिणपंथी विचारधारा की आलोचक तथा धर्मनिरपेक्षता की ज़ोरदार वकालत करने वाली गौरी लंकेश को सितंबर माह की शुरुआत में बेंगलुरू में उन्हीं के घर के बाहर गोली मार दी गई थी। 55-वर्षीय गौरी लंकेश एक साप्ताहिक समाचारपत्र का प्रकाशन करती थीं। हत्या के इस मामले में फिलहाल किसी को भी गिरफ्तार नहीं किया गया है। घर पर लगे सिक्योरिटी कैमरा में हमलावर हेलमेट पहने दिखाई दे रहा था।

उन्होंने कहा है कि पत्रकार गौरी लंकेश की हत्या पर वो काफी आहत हैं और इस बात से ज्यादा दुख पहुंचा है कि देश के प्रधानमंत्री ने इस घटना को लेकर कोई बयान नहीं दिया है। उन्होंने कहा कि गौरी लंकेश की हत्या पर देश के प्रधानमंत्री की चुप्पी चिंताजनक है। उन्होने आगे कहा कि ‘गौरी लंकेश के हत्यारों का पता हो सकता है चले या न चले, लेकिन जिस तरह एक बड़ी भीड़ सोशल मीडिया पर उनकी मौत को सेलिब्रेट कर रही है, वह परेशान करने वाली बात है, हम सब जानते हैं कि ये कौन लोग हैं और उनकी क्या विचारधारा है, इनमें से कई ऐेसे हैं, जिन्हें नरेंद्र मोदी फॉलो करते हैं, ये सब बातें चिंताजनक है कि हमारा देश कहा जा रहा है। प्रकाश राज ने आगे कहा, मैं कोई अवॉर्ड नहीं चाहता, मुझसे न कहें कि अच्छे दिन आएंगे. मैं जाना पहचाना एक्टर हूं, जब आप एक्ट‍िंग करते हैं तो मैं पहचान लेता हूं।

{ यह भी पढ़ें:- केदारनाथ धाम पहुंचे PM मोदी, बोले- सवा सौ करोड़ जनता की सेवा ही बाबा केदार की सेवा }

प्रकाश ने पीएम को संबोधित करते हुए कहा,’मैं एक नामी ऐक्टर हूं। क्या आपको वाकई लगता है कि मैं आपकी ऐक्टिंग को नहीं पहचान सकूंगा?’ पीएम मोदी पर बुरी तरह भड़के प्रकाश राज ने कहा कि वह गौरी लंकेश के मर्डर पर पीएम मोदी की चुप्पी को लेकर परेशान हैं। उन्होंने कहा कि, ‘इस मामले पर चुप रहकर क्या पीएम मोदी क्रूरता को बढ़ावा दे रहे हैं, जिसका कि उनके ही कुछ फॉलोअर्स जश्न मना रहे हैं?’

प्रकाश ने यह भी कहा कि अगर पीएम मोदी ऐसे ही इस मामले पर चुप रहे तो वह अपने पांचों नैशनल फिल्म अवॉर्ड्स लौटाने में जरा भी देर नहीं करेंगे। बता दें कि प्रकाश राज गौरी और उनके पिता के अच्छे दोस्त हैं। वह गौरी को बीते 30 वर्षों से जानते थे।

{ यह भी पढ़ें:- विरासत को छोड़कर आगे बढ़ने वालों की पहचान खत्म होना तय: पीएम मोदी }