कांग्रेस कार्यालय पर लगा पोस्टर- PK को ढूढ़ कर लाओ, पांच लाख का इनाम पाओ

लखनऊ। लोकसभा चुनाव 2014 से सियासी चर्चा में आये चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर (PK) ने इस बार यूपी चुनाव के लिए कांग्रेस की कमान संभाली थी। चुनाव से पहले मीडिया से बातचीत के दौरान PK पार्टी के अच्छे प्रदर्शन का दावा करते भी दिखते थे लेकिन चुनावी नतीजों ने खुद प्रशांत किशोर की लुटिया ही डूबे दी है।
गौरतलब है कि यूपी विधानसभा चुनाव में कांग्रेस को शर्मनाक हार झेलनी पड़ीं है। कांग्रेस की इस हार के लिए पार्टी के कार्यकर्ता PK को ही जिम्मेदार मान रहे है। अभी तक यह बात दबी जुबान में सुनने को मिल रही थी लेकिन शुक्रवार शाम लखनऊ स्थित कांग्रेस कार्यालय के बहार एक पोस्टर देखने को मिला। इस पोस्टर में चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर को खोजने वाले को 5 लाख रुपए देने की बात कही गई है। यह पोस्टर कांग्रेस के प्रदेश सचिव राजेश सिंह ने जारी किया है।



राजेश सिंह का आरोप है कि चुनावी बैठक के दौरान PK अक्सर पार्टी के बड़े नेताओं के साथ बदसलूकी करते रहते थे और कहते रहते थे कि अगर चुनावी नतीजे कांग्रेस के पक्ष में नहीं आये तो हमें पागल घोषित कर देना। लेकिन जब नतीजे आने से पहले pk अपना पेमेंट लेकर अंडरग्राउंड हो गए। साथ ही पीके ने कार्यकर्ता सम्मेलन में कहा था कि मैं 220 सीटों पर जीत दिलाऊंगा।



गठबंधन हुआ तो 105 सीटों पर बोलने लगे कि इनमें से एक भी कम हो तो मुझे पागल घोषित करके बाहर कर देना। लेकिन जब से उन्होंने पार्टी की ऐतिहासिक हार कराई है, तब से मिल नहीं रहे हैं। ये उनकी ही कारस्तानी है। वो भाजपा से सुपारी लेकर आए थे कि कांग्रेस और सपा को जोड़कर हराएंगे। इससे अच्छा प्रदर्शन हम लोगों ने 2012 में किया था। हमारी 27 सीटें थीं और वोट प्रतिशत भी बढ़ा था।