टीएमसी की कमजोर जड़ों को मजबूत करने पश्चिम बंगाल जा सकते हैं रणनीतिकार प्रशांत किशोर

prashant kishore
टीएमसी की कमजोर जड़ों को मजबूत करने पश्चिम बंगाल जा सकते हैं रणनीतिकार प्रशांत किशोर

नई दिल्ली। देश के जाने—मानें चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर ने गुरुवार को पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी से मुलाकात की। बताया जा रहा है कि बीजेपी, जदयू और वाईएसआर कांग्रेस को सफलता दिलाने वाले प्रशांत किशोर अब ममता बनर्जी की टीएमसी के लिए काम करेंगे। वो एक महीने बाद इस बात की अधिकारिक तौर पर घोषणा कर सकते हैं।

Prashant Kishor Agreed To Work With Mamta Banerjee In West Bangal Says Source :

बता दें कि वो जदयू के उपाध्यक्ष भी हैं। लोकसभा चुनाव में प्रशांत किशोर ने जदयू के लिए काम किया। उनकी मदद से ही जदयू ने बिहार की 16 लोकसभा सीटों पर जीत हासिल की है। प्रशांत किशोर हाल में सबसे ज्यादा चर्चा में तब रहे, जब उन्होंने आंध्र प्रदेश में जगनमोहन रेड्डी की पार्टी के लिए काम किया और उन्हें सत्ता दिलाई।

बतया जा रहा है कि प्रशांत किशोर के टीएमसी के साथ जुड़ने के राजनीतिक महत्व इसलिए भी ज्यादा है क्योंकि प्रशांत किशोर की चुनावी रणनीति की बदौलत ममता बनर्जी एक बार फिर से अपनी जमीन मजबूत करने की कोशिश में हैं, जिसे बीजेपी ने लोकसभा चुनाव में हिला दिया।

नई दिल्ली। देश के जाने—मानें चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर ने गुरुवार को पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी से मुलाकात की। बताया जा रहा है कि बीजेपी, जदयू और वाईएसआर कांग्रेस को सफलता दिलाने वाले प्रशांत किशोर अब ममता बनर्जी की टीएमसी के लिए काम करेंगे। वो एक महीने बाद इस बात की अधिकारिक तौर पर घोषणा कर सकते हैं। बता दें कि वो जदयू के उपाध्यक्ष भी हैं। लोकसभा चुनाव में प्रशांत किशोर ने जदयू के लिए काम किया। उनकी मदद से ही जदयू ने बिहार की 16 लोकसभा सीटों पर जीत हासिल की है। प्रशांत किशोर हाल में सबसे ज्यादा चर्चा में तब रहे, जब उन्होंने आंध्र प्रदेश में जगनमोहन रेड्डी की पार्टी के लिए काम किया और उन्हें सत्ता दिलाई। बतया जा रहा है कि प्रशांत किशोर के टीएमसी के साथ जुड़ने के राजनीतिक महत्व इसलिए भी ज्यादा है क्योंकि प्रशांत किशोर की चुनावी रणनीति की बदौलत ममता बनर्जी एक बार फिर से अपनी जमीन मजबूत करने की कोशिश में हैं, जिसे बीजेपी ने लोकसभा चुनाव में हिला दिया।