PK ने फिर केन्द्र पर साधा निशाना, कहा- CAA और NRC पर सरकार ने सिर्फ ब्रेक लगाया है फुल स्टॉप नहीं

PK
PK ने फिर केन्द्र पर साधा निशाना, कहा- CAA और NRC पर सरकार ने सिर्फ ब्रेक लगाया है फुल स्टॉप नहीं

नई दिल्ली। नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) पर पार्टी लाइन से हटकर बयानबाजी कर रहे जनता दल यूनाइटेड के उपाध्यक्ष प्रशांत किशोर (पीके) ने एक बार फिर केन्द्र सरकार पर हमला बोला है। प्रशांत किशोर ने कहा कि अभी तो एनआरसी पर कोई चर्चा ही नहीं हुई है। प्रशांत किशोर ने गुरुवार की सुबह फिर सीएए और एनआरसी के मसले पर ट्वीट कर कहा कि सरकार का दावा अभी सिर्फ ब्रेक पर है। यह पूरी तरह से फुल स्टॉप नहीं है।

Prashant Kishore Again Targeted The Center Said The Government Has Only Applied Brakes On Caa And Nrc Not Full Stop :

नागरिकता संशोधन एक्ट के खिलाफ अक्रामक रवैया रखने वाले राजनीतिक रणनीतिकार प्रशांत किशोर ने ट्वीट कर कहा कि ‘अभी तो एनआरसी की चर्चा नहीं हुई है कि बात करना सिर्फ एक कोशिश है कि सीएए-एनआरसी पर जो प्रदर्शन हो रहा है, उसे रोका जाए। लेकिन ये सिर्फ एक ब्रेक है, फुल स्टॉप नहीं है, अभी तो एनआरसी की चर्चा नहीं हुई है। सिर्फ प्रदर्शन रोकने के लिए कहा जा रहा है कि सीएए अलग है। मगर ये सिर्फ एक ब्रेक है, फुल स्टॉप नहीं।

प्रशांत किशोर ने आगे कहा कि नागरिकता संशोधन एक्ट पर सरकार सुप्रीम कोर्ट के आदेश का इंतजार कर सकती है। अदालत से पक्ष में फैसला आने के बाद एक बार फिर से यह पूरी प्रक्रिया शुरू हो जाएगी। बता दें कि प्रशांत किशोर एनआरसी को लेकर स्पष्ट कह चुके हैं कि बिहार में वह और उनकी सरकार इसे लागू नहीं होने देगी। गौरतलब है कि प्रशांत किशोर का यह ट्वीट उस बयान पर है, जिसमें कुछ दिनों पर पीएम नरेंद्र मोदी ने रामलीला मैदान में कहा था कि सरकार ने एनआरसी को लेकर अभी तक किसी तरह की चर्चा ही नहीं की है।

नई दिल्ली। नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) पर पार्टी लाइन से हटकर बयानबाजी कर रहे जनता दल यूनाइटेड के उपाध्यक्ष प्रशांत किशोर (पीके) ने एक बार फिर केन्द्र सरकार पर हमला बोला है। प्रशांत किशोर ने कहा कि अभी तो एनआरसी पर कोई चर्चा ही नहीं हुई है। प्रशांत किशोर ने गुरुवार की सुबह फिर सीएए और एनआरसी के मसले पर ट्वीट कर कहा कि सरकार का दावा अभी सिर्फ ब्रेक पर है। यह पूरी तरह से फुल स्टॉप नहीं है। नागरिकता संशोधन एक्ट के खिलाफ अक्रामक रवैया रखने वाले राजनीतिक रणनीतिकार प्रशांत किशोर ने ट्वीट कर कहा कि ‘अभी तो एनआरसी की चर्चा नहीं हुई है कि बात करना सिर्फ एक कोशिश है कि सीएए-एनआरसी पर जो प्रदर्शन हो रहा है, उसे रोका जाए। लेकिन ये सिर्फ एक ब्रेक है, फुल स्टॉप नहीं है, अभी तो एनआरसी की चर्चा नहीं हुई है। सिर्फ प्रदर्शन रोकने के लिए कहा जा रहा है कि सीएए अलग है। मगर ये सिर्फ एक ब्रेक है, फुल स्टॉप नहीं। प्रशांत किशोर ने आगे कहा कि नागरिकता संशोधन एक्ट पर सरकार सुप्रीम कोर्ट के आदेश का इंतजार कर सकती है। अदालत से पक्ष में फैसला आने के बाद एक बार फिर से यह पूरी प्रक्रिया शुरू हो जाएगी। बता दें कि प्रशांत किशोर एनआरसी को लेकर स्पष्ट कह चुके हैं कि बिहार में वह और उनकी सरकार इसे लागू नहीं होने देगी। गौरतलब है कि प्रशांत किशोर का यह ट्वीट उस बयान पर है, जिसमें कुछ दिनों पर पीएम नरेंद्र मोदी ने रामलीला मैदान में कहा था कि सरकार ने एनआरसी को लेकर अभी तक किसी तरह की चर्चा ही नहीं की है।