1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. Prateek Bhushan Singh Jeevan Parichay : गोंडा में युवाओं के रोल मॉडल हैं युवा विधायक प्रतीक भूषण सिंह

Prateek Bhushan Singh Jeevan Parichay : गोंडा में युवाओं के रोल मॉडल हैं युवा विधायक प्रतीक भूषण सिंह

Prateek Bhushan Singh Jeevan Parichay : संघ के छोटे से कार्यकर्ता से अपनी सामाजिक सेवा शुरु करने वाले प्रतीक भूषण सिंह ने महज 27 साल की आयु में विधान सभा की सदस्यता हासिल कर जिले में इतिहास रचा है। उत्तर प्रदेश विधानसभा के 2017 में हुए चुनाव में जीत ​हासिल कर पहली बार विधानसभा पहुंचे हैं।

By संतोष सिंह 
Updated Date

Prateek Bhushan Singh Jeevan Parichay : संघ के छोटे से कार्यकर्ता से अपनी सामाजिक सेवा शुरु करने वाले प्रतीक भूषण सिंह (Prateek Bhushan Singh) ने महज 27 साल की आयु में विधान सभा की सदस्यता हासिल कर जिले में इतिहास रचा है। उत्तर प्रदेश विधानसभा (Uttar Pradesh Legislative Assembly) के 2017 में हुए चुनाव में जीत ​हासिल कर पहली बार विधानसभा  पहुंचे हैं।

पढ़ें :- Kailash Nath Shukla jeevan parichay : संगठन से लेकर सत्ता तक का कैलाश नाथ शुक्ल ने यूं तय किया सफर

प्रतीक भूषण जीवन शैली

उत्तर प्रदेश की 17 वीं विधानसभा (17th Legislative Assembly of Uttar Pradesh) में भाजपा के बैनर तले चुनाव जीतकर गोंडा सदर क्षेत्र से विधानसभा (Gonda Sadar constituency assembly) पहुंचे प्रतीक भूषण की बाल्यावस्था से ही राष्ट्रीय सेवक संघ से जुडे थे। अब वे जनप्रतिनिधि के रुप में अपने संकल्प को पूरा करने में जुटे हुए हैं। संघ के छोटे से कार्यकर्ता से अपनी सामाजिक सेवा शुरु करने वाले प्रतीक भूषण सिंह ने अपनी मेहनत और जनसेवा के माध्यम से न केवल पार्टी में अपना नाम बनाया, बल्कि अपने विधान सभा क्षेत्र में स्वयं को एक योग्य जनसेवक के रुप में स्थापित किया है।

ये है पूरा सफरनामा

नाम-प्रतीक भूषण सिंह
पिता का नाम- बृजभूषण शरण सिंह
माता का नाम- केतकी देवी सिंह
जन्‍म तिथि-01 मई, 1988
जन्‍म स्थान-विश्नोहरपुर (गोण्डा)
धर्म-हिन्दू
जाति-क्षत्रिय
शिक्षा-स्नातक
पत्‍नी का नाम-डॉ0राजश्री सिंह
सन्तान-एक पुत्र
व्‍यवसाय-कृषि
निर्वाचन क्षेत्र- 296, गोंडा सदर
मुख्यावास-ग्राम व पोस्ट-42 विश्‍नोहरपुर , जनपद-गोण्डा ।

पढ़ें :- Hakim Lal Bind jeevan parichay : हाकिम ने हाथी की सवारी तो नहीं चला हण्डिया सीट पर मोदी का जादू

राजनीतिक परिवार से है प्रतीक भूषण का तालुल्क

गोंडा जिले की तरबगंज तहसील क्षेत्र के विश्नोहरपुर गांव में जन्मे भाजपा विधायक प्रतीक भूषण सिंह का जन्म हुआ है। इनके पिता भारतीय जनता पार्टी के दिग्गज सांसद बृज भूषण शरण सिंह कुश्ती के कुशल खिलाड़ी और राजनीति के महारथी हैं। 1991 में भाजपा के टिकट पर गोंडा लोक सभा क्षेत्र से ताल ठोंक दिया। पहले चुनाव में ही उन्होंने बाजी जीत ली और लोकसभा पहुंच गए। 1996 में उन्होंने पत्नी केतकी देवी सिंह को चुनाव जिताकर गोंडा लोकसभा सीट पर कब्जा बरकरार रखा। इसके बाद 1999,2004,2009,2014 व 2019 के चुनाव में लगातार कई लोकसभा सीटों पर बदल-बदलकर चुनाव जीतने में सफल रहे।

आस्ट्रेलिया (Australia) की मेलबर्न युनिवर्सिटी से मैनेजमेंट स्नातक(Management graduate from University of Melbourne) , दिल्ली के एअर फोर्स स्कूल से हाईस्कूल और इण्टरमीडिएट की परीक्षा उत्तीर्ण करने के बाद प्रतीक भूषण सिंह ने देश सेवा के जुनून के चलते राजनीति को ही चुना। प्रतीक भूषण सिंह पत्नी डॉ. राजश्री सिंह जिले की प्रसिद्ध चिकित्सक हैं। राजनीति हो अथवा समाज सेवा हर काम में उनकी पत्नी का पूरा समर्थन और सहयोग उन्हें मिलता है। सामाजिक जीवन में संघर्ष और स्वाध्याय से ये युवा विधायक आज युवा पीढ़ी के लिए रोल माडल बन गए हैं।

राजनीतिक योगदान

मार्च, 2017 में सत्रहवीं विधान सभा के सदस्य प्रथम बार निर्वाचित

पढ़ें :- Dr. Manju Shiwach jeevan parichay : पति के सलाह पर डॉ. मंजू शिवाच उतरीं राजनीति की पिच पर और मार लिया मैदान

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...