प्रयागराज: कमिश्नर ने पत्नी-बेटे को दे दिया कुम्भ में ठेका, बिना टेंडर के हुआ आवंटन

ashish goel
प्रयागराज के कमिश्नर पर पत्नी-बेटे को कुंभ के काम का ठेका देने का आरोप

लखनऊ। यूपी विधान परिषद में शून्यकाल के दौरान कांग्रेस MLC दीपक सिंह ने प्रयागराज के कमिश्नर आशीष गोयल पर भ्रष्टाचार को बढ़ावा देने का आरोप लगाया। MLC दीपक सिंह कहा कि उक्त अधिकारी ने अपनी पत्नी और बेटे को कुंभ के दौरान होने वाले विभिन्न कार्यों का ठेका दे दिया। उन्हें करोड़ों रुपये का काम बिना टेंडर आवंटित कर दिया गया।

Prayagraj Commissioner Ashish Kumar Goya Gives Contract Work For Aquarius To His Wife And Son :

दीपक सिंह ने बताया कि उन्होंने ने अपने बीवी और बेटे को करोड़ों रुपये का काम बिना टेंडर आवंटित कर दिया गया। उन्होंने काम रोककर इस पर चर्चा कराने तथा इन घोटालों की जांच के लिए विधान परिषद के सदस्यों की समिति बनाए जाने की मांग की। इस पर नेता सदन दिनेश शर्मा ने कहा कि इस तरह बिना किसी आधार के आरोप नहीं लगाया जाना चाहिए।

यदि आपके पास तथ्य और सुबूत हैं तो हलफनामे के साथ दीजिए उस पर जांच कराई जाएगी और कार्रवाई भी होगी। उन्होंने कहा कि सरकार भ्रष्टाचार के प्रति जीरो टॉलरेंस पर काम कर रही है। कुंभ के लिए 2900 करोड़ रुपये का बजट निर्धारित किया गया है। 2147 करोड़ जारी किए गए हैं। वहां किए जा रहे कार्यों का थर्ड पार्टी ऑडिट कराया जा रहा है।

लखनऊ। यूपी विधान परिषद में शून्यकाल के दौरान कांग्रेस MLC दीपक सिंह ने प्रयागराज के कमिश्नर आशीष गोयल पर भ्रष्टाचार को बढ़ावा देने का आरोप लगाया। MLC दीपक सिंह कहा कि उक्त अधिकारी ने अपनी पत्नी और बेटे को कुंभ के दौरान होने वाले विभिन्न कार्यों का ठेका दे दिया। उन्हें करोड़ों रुपये का काम बिना टेंडर आवंटित कर दिया गया। दीपक सिंह ने बताया कि उन्होंने ने अपने बीवी और बेटे को करोड़ों रुपये का काम बिना टेंडर आवंटित कर दिया गया। उन्होंने काम रोककर इस पर चर्चा कराने तथा इन घोटालों की जांच के लिए विधान परिषद के सदस्यों की समिति बनाए जाने की मांग की। इस पर नेता सदन दिनेश शर्मा ने कहा कि इस तरह बिना किसी आधार के आरोप नहीं लगाया जाना चाहिए। यदि आपके पास तथ्य और सुबूत हैं तो हलफनामे के साथ दीजिए उस पर जांच कराई जाएगी और कार्रवाई भी होगी। उन्होंने कहा कि सरकार भ्रष्टाचार के प्रति जीरो टॉलरेंस पर काम कर रही है। कुंभ के लिए 2900 करोड़ रुपये का बजट निर्धारित किया गया है। 2147 करोड़ जारी किए गए हैं। वहां किए जा रहे कार्यों का थर्ड पार्टी ऑडिट कराया जा रहा है।