1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. Prayagraj : Mahant Balbir Giri बाघंबरी मठ के उत्तराधिकारी नियुक्त, चादर विधि की रस्म संपन्न

Prayagraj : Mahant Balbir Giri बाघंबरी मठ के उत्तराधिकारी नियुक्त, चादर विधि की रस्म संपन्न

अखाड़ा परिषद अध्यक्ष के अध्यक्ष (President of Arena Council President) व बाघंबरी गद्दी मठ के महंत नरेंद्र गिरि (Mahant Narendra Giri of Baghambari Gaddi Math) की संदिग्ध मौत के अनसुलझे रहस्यों के बीच मंगलवार को महंत बलवीर गिरि (Mahant Balbir Giri) को उनका उत्तराधिकारी नियुक्त कर दिया गया है। युवा संन्यासी बलवीर निरंजनी अखाड़े (Young Saints Balveer Niranjani Akhara) के उप महंत के रूप में अब तक हरिद्वार स्थित विल्केश्वर महादेव मंदिर (Wilkeshwar Mahadev Temple in Haridwar) की जिम्मेदारी संभाल रहे थे।

By संतोष सिंह 
Updated Date

प्रयागराज । अखाड़ा परिषद अध्यक्ष के अध्यक्ष (President of Arena Council President) व बाघंबरी गद्दी मठ के महंत नरेंद्र गिरि (Mahant Narendra Giri of Baghambari Gaddi Math) की संदिग्ध मौत के अनसुलझे रहस्यों के बीच मंगलवार को महंत बलवीर गिरि (Mahant Balbir Giri) को उनका उत्तराधिकारी नियुक्त कर दिया गया है। युवा संन्यासी बलवीर निरंजनी अखाड़े (Young Saints Balveer Niranjani Akhara) के उप महंत के रूप में अब तक हरिद्वार स्थित विल्केश्वर महादेव मंदिर (Wilkeshwar Mahadev Temple in Haridwar) की जिम्मेदारी संभाल रहे थे।

पढ़ें :- Aadhaar Card New Advisory : कांग्रेस ने कसा तंज, बोली-बहुत देर कर दी हुजूर आते-आते...

मंगलवार को षोडशी पूजा (Shodashi Puja) के बाद दिन के 12 बजे से बाघंबरी गद्दी मठ में नए महंत के रूप में बलवीर गिरि (Balbir Giri) की महंतई चादर विधि की रस्म अदा की गई है। चादर विधि में निरंजनी अखाड़े के आचार्य महामंडलेश्वर कैलाशानंद ब्रहमचारी (Acharya Mahamandaleshwar Kailashananda Brahmachari) के अलावा पंच परमेश्वर समेत कई महामंडलेश्वर और महंत मौजूद है। तिलक लगाकर चादर ओढ़ाकर रस्म अदा की जा रही है। इस समारोह के साक्षी देश भर से आए संत-महंत बने।

महंत नरेंद्र गिरि की वसीयत के आधार पर निरंजनी अखाड़े (Niranjani Akhara)  के पंच परमेश्वर ने बलवीर को उत्तराधिकारी चुना था। महंत नरेंद्र गिरि निरंजनी अखाड़े के सचिव भी थे, लेकिन अभी उनके उत्तराधिकारी बलवीर को यह पद नहीं दिया जाएगा। निरंजनी अखाड़े में चार सचिव होते हैं। नरेंद्र गिरि की मौत के बाद एक पद रिक्त हो गया है। मौजूदा समय निरंजनी अखाड़े (Niranjani Akhara) के तीन सचिवों में महंत रवींद्र पुरी (Mahant Ravindra Puri) , महंत राम रतन गिरि (Mahant Ram Ratan Giri) और महंत ओंकार गिरि (Mahant Omkar Giri) के नाम शामिल हैं। षोडशी के बाद इस पद पर नई नियुक्ति के बारे में अखाड़े की ओर से विचार किया जाएगा।

षोडशी आयोजन भी रडार पर, आने-जाने वालों पर रहेगी नजर

अखाड़ा परिषद अध्यक्ष नरेंद्र गिरि (Arena Council President Narendra Giri) का षोडशी पूजा (Shodashi Puja) भी जांच एजेंसी के रडार पर है। षोडशी आयोजन में देश भर से संत महात्मा जुटे हैं। ऐसे में जांच एजेंसियों की नजर भी षोडशी पूजा (Shodashi Puja) पर होगी। माना जा रहा है कि सीबीआई (CBI) की टीम भी गोपनीय तरीके से इस आयोजन में शरीक होने वालों की जानकारी जुटा सकती है। इस दौरान कौन किससे मिला, किसकी क्या गतिविधियां थीं, इसका भी ब्यौरा जुटाया जा सकता है। महंत के साथ-साथ उन लोगों पर भी विशेष नजर रखी जा सकती है जिनकी आनंद गिरि, आद्या तिवारी व संदीप के भी लगातार संपर्क में थे।

पढ़ें :- Deoband: इतना कुछ सहने के बाद भी हम खामोस हैं, हमारे सब्र का इम्तिहान लिया जा रहा, जमीयत अधिवेशन में बोले मदनी

400 से ज्यादा जवान सुरक्षा में तैनात

षोडशी पूजा (Shodashi Puja) में भीड़ उमड़ने की संभावना को देखते हुए कड़े सुरक्षा प्रबंध भी किए गए हैं। इस दौरान 400 से ज्यादा जवान मठ केविभिन्न हिस्सों में तैनात किए जाएंगे। आठ थानों की फोर्स मठ के अंदर और बाहर ड्यूटी पर लगाई गई है। इसके अलावा एक प्लाटून पीएसी भी मौके पर मुस्तैद है।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...