1. हिन्दी समाचार
  2. दो महीने से दिल्ली में फंसी थीं प्रयागराज की तीन बहनें, प्रियंका गांधी ने भिजवाया घर

दो महीने से दिल्ली में फंसी थीं प्रयागराज की तीन बहनें, प्रियंका गांधी ने भिजवाया घर

Prayagrajs Three Sisters Were Trapped In Delhi For Two Months Priyanka Gandhi Sent Home

By टीम पर्दाफाश 
Updated Date

प्रयागराज: कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने लॉकडाउन में दिल्ली में फंसी तीन बहनों की बड़ी मदद की है. पार्टी के एक नेता की सिफारिश पर प्रियंका ने न सिर्फ इन तीनों बहनों के लिए ई पास का इंतजाम कराया, बल्कि उन्हें खुद अपने वाहन से वापस घर भिजवाया. इतना ही नहीं नई दिल्ली में इनका मेडिकल चेकअप कराया गया तो साथ ही रास्ते में भूख लगने पर खाने -पीने के सामान भी दिए गए. तीनों बहनें पिछले तकरीबन दो महीने से दिल्ली में फंसी हुई थीं.

पढ़ें :- जाने आखिर क्यों करोड़ो की कीमत होने के बावजूद भी कोई इन घरो को एक रूपये में भी नहीं खरीदना चाहता

उनके पैसे और खाने -पीने के सामान ख़त्म हो चुके थे. मकान मालिक कई बार किराए के लिए टोक चुके थे. बहरहाल ये बहनें अब प्रयागराज में अपने घर पहुंच गईं हैं और इनका एक भी पैसा खर्च नहीं हुआ है. तीनों बहनें व परिवार के बाकी लोग काफी खुश हैं. दो महीने की मुश्किलें अब वह भूलने लगे हैं. पूरा परिवार कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा का बार -बार दिल से शुक्रिया अदा कर रहा है. उन्हें यूथ आइकॉन और रियल लीडर बता रहा है तो एक हज़ार बसें भेजे जाने की उनकी पेशकश को भी सही ठहरा रहा है.

संगम नगरी प्रयागराज के नैनी की रहने वाली दो बहनें पल्ल्वी और अंजलि एमबीए करने के बाद नौकरी की तलाश में कुछ महीनों पहले ही दिल्ली गई थीं. फरवरी महीने में ही उन्हें जॉब मिली थी. दोनों बहनें दिल्ली के न्यू अशोक नगर इलाके में किराए के फ़्लैट में रहती थीं. जनता कर्फ्यू से कुछ दिन पहले ही उनकी छोटी बहन पारुल भी उनके पास पहुंच गईं. जिस इलाके में तीनों बहनें रहती थीं, वहां आस -पास कोरोना तेज़ी से अपना पांव पसार रहा था. अकेली लडकियां काफी डर गईं थीं. उन्होंने काफी कोशिशें की, लेकिन कोई कामयाबी नहीं मिली.

यूपी सरकार के जन सुनवाई पोर्टल से भी कोई मदद नहीं मिली. इस बीच इनके परिवार ने प्रयागराज के कांग्रेस नेता अनिल कुशवाहा से संपर्क किया. उन्होंने प्रियंका वाड्रा से संपर्क कर तीनों बहनों के लिए ई पास- वाहन, मेडिकल टेस्ट और खाने -पीने के सामानों का इंतजाम कराया. प्रियंका वाड्रा ने इनकी जो मदद की, उसके लिए पूरा परिवार उनका बार -बार शुक्रिया अदा कर रहा है. कांग्रेस नेता और पूर्व सांसद प्रमोद तिवारी ने भी प्रियंका गांधी की इस मदद पर उनका आभार जताते हुए यूपी सरकार से कांग्रेस की बसों पर सियासत नहीं करने की अपील की है.

पढ़ें :- 99 % लोगो को नहीं पता होगा ट्रेन के नीले और लाल रंग के डिब्बों में क्या होता है फर्क, सवाल का जवाब पढ़ कर हिल जाएगा आपका दिमाग

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...