फिर से शुरू करने की तैयारी तेजस और महाकाल एक्सप्रेस

01BGMNGTEJAS

नई दिल्ली: यात्रियों के लिए 230 ट्रेनें शुरू करने के बाद अब कॉर्पोरेट ट्रेनें तेजस और महाकाल एक्सप्रेस को भी फिर से शुरू करने की तैयारी चल रही हैं। सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक आईआरसीटीसी इन दिनों इन तीनों ट्रेनों के लिए शेड्यूल तैयार करने में लगा हुआ है। रेल मंत्रालय की हरी झंडी मिलते ही इनका परिचालन फिर से शुरू कर दिया जाएगा। लॉकडाउन के कारण ये ट्रेनें बंद थीं।

Preparations To Start Again Tejas And Mahakal Express :

देश की पहली कॉर्पोरेट ट्रेन तेजस दिल्ली से लखनऊ के बीच, उसके बाद दूसरी ट्रेन अहमदाबाद से मुंबई के बीच शुरू हुई थी। इन दोनों ट्रेनों में सीटों पर बैठकर यात्री सफर करते हैं। तीसरी कॉर्पोरेट ट्रेन महाकाल एक्सप्रेस काशी विश्वनाथ से इंदौर के बीच शुरू हुई थी। यह ट्रेन 3 शिवलिंगों के दर्शन कराती है। इसमें रात भर की यात्रा है। इसलिए स्लीपर की व्यवस्था है।

आधिकारिक सूत्रों के मुताबिक, चूंकि तीनों लंबी दूरी की ट्रेनें हैं, इनमें पका हुआ खाना मुहैया कराया जाए या उसकी जगह कुछ और दिया जाए इस पर विचार चल रहा है। क्योंकि कैंटीन शुरू करनी है तो उसके लिए भी क्या नियम होंगे इस पर बातचीत चल रही है।

तेजस ट्रेनों में आईआरसीटीसी सीटों के बीच प्लास्टिक या कांच की शील्ड लगाने की योजना पर काम कर रहा है, जिससे संक्रमण फैलने से बचाया जा सके। इसके लिए दो सीटों के बीच में ये शील्ड लगाने पर काम चल रहा है। सूत्रों के मुताबिक अब आईआरसीटीसी तेजस और महाकाल में दी जाने वाली यात्रियों की किट में सैनिटाइजर और मास्क देने की तैयारी कर रहा है, जिससे यात्रियों को संक्रमण से बताया जा सके। इसके साथ सभी की थर्मल स्क्रीनिंग भी होगी।

नई दिल्ली: यात्रियों के लिए 230 ट्रेनें शुरू करने के बाद अब कॉर्पोरेट ट्रेनें तेजस और महाकाल एक्सप्रेस को भी फिर से शुरू करने की तैयारी चल रही हैं। सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक आईआरसीटीसी इन दिनों इन तीनों ट्रेनों के लिए शेड्यूल तैयार करने में लगा हुआ है। रेल मंत्रालय की हरी झंडी मिलते ही इनका परिचालन फिर से शुरू कर दिया जाएगा। लॉकडाउन के कारण ये ट्रेनें बंद थीं। देश की पहली कॉर्पोरेट ट्रेन तेजस दिल्ली से लखनऊ के बीच, उसके बाद दूसरी ट्रेन अहमदाबाद से मुंबई के बीच शुरू हुई थी। इन दोनों ट्रेनों में सीटों पर बैठकर यात्री सफर करते हैं। तीसरी कॉर्पोरेट ट्रेन महाकाल एक्सप्रेस काशी विश्वनाथ से इंदौर के बीच शुरू हुई थी। यह ट्रेन 3 शिवलिंगों के दर्शन कराती है। इसमें रात भर की यात्रा है। इसलिए स्लीपर की व्यवस्था है। आधिकारिक सूत्रों के मुताबिक, चूंकि तीनों लंबी दूरी की ट्रेनें हैं, इनमें पका हुआ खाना मुहैया कराया जाए या उसकी जगह कुछ और दिया जाए इस पर विचार चल रहा है। क्योंकि कैंटीन शुरू करनी है तो उसके लिए भी क्या नियम होंगे इस पर बातचीत चल रही है। तेजस ट्रेनों में आईआरसीटीसी सीटों के बीच प्लास्टिक या कांच की शील्ड लगाने की योजना पर काम कर रहा है, जिससे संक्रमण फैलने से बचाया जा सके। इसके लिए दो सीटों के बीच में ये शील्ड लगाने पर काम चल रहा है। सूत्रों के मुताबिक अब आईआरसीटीसी तेजस और महाकाल में दी जाने वाली यात्रियों की किट में सैनिटाइजर और मास्क देने की तैयारी कर रहा है, जिससे यात्रियों को संक्रमण से बताया जा सके। इसके साथ सभी की थर्मल स्क्रीनिंग भी होगी।