अक्टूबर में अमेरिका राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप आ सकते हैं भारत, करेंगे ताजमहल की दीदार

donald trump
अक्टूबर में अमेरिका राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप आ सकते हैं भारत, करेंगे ताजमहल की दीदार

नई दिल्ली। अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप अक्टूबर में भारत आ सकते हैं। इस दौरान वो आगरा जाकर ताजमहल का दीदार भी करेंगे। फिलहाल अभी उनके दौरे को लेकर कोई कार्यक्रम नहीं आया है। बताया जा रहा है कि अमेरिका की एजेंसियां अभी से ही सक्रिय हो गईं हैं। वहीं भारत के भी प्रशासनिक अधिकारी भी इस यात्रा को लेकर तैयारियां कर रहे हैं।

President Can Come To India In October Will See Taj Mahal :

बताया जा रहा है कि उनकी विजिट अक्टूबर के अंतिम सप्ताह में हो सकती है। प्रशासनिक सूत्रों के मुताबिक अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप की संभावित विजिट को लेकर अभी से ही तैयारियां शुरू कर दी गईं हैं। यहीं नहीं गृह और विदेश मंत्रालय से भी जानकारी ली जा रही है।

गौरतलब हो कि वर्ष 1959 में अमेरिका के तत्कालीन राष्ट्रपति आइजन हॉवर भी ताजमहल देखने आए थे। वहीं 20 मार्च 2000 को अमेरिका के तत्कालीन राष्ट्रपति बिल क्लिंटन ताजमहल का दीदार करने आए था। बता दें कि वर्ष 2015 में अमेरिका के तत्कालीन राष्ट्रपति बराक ओबामा को भी ताजमहल देखने आना था। हालाकि बाद में उनका यहां आने का कार्यक्रम निरस्त हो गया था।

नई दिल्ली। अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप अक्टूबर में भारत आ सकते हैं। इस दौरान वो आगरा जाकर ताजमहल का दीदार भी करेंगे। फिलहाल अभी उनके दौरे को लेकर कोई कार्यक्रम नहीं आया है। बताया जा रहा है कि अमेरिका की एजेंसियां अभी से ही सक्रिय हो गईं हैं। वहीं भारत के भी प्रशासनिक अधिकारी भी इस यात्रा को लेकर तैयारियां कर रहे हैं। बताया जा रहा है कि उनकी विजिट अक्टूबर के अंतिम सप्ताह में हो सकती है। प्रशासनिक सूत्रों के मुताबिक अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप की संभावित विजिट को लेकर अभी से ही तैयारियां शुरू कर दी गईं हैं। यहीं नहीं गृह और विदेश मंत्रालय से भी जानकारी ली जा रही है। गौरतलब हो कि वर्ष 1959 में अमेरिका के तत्कालीन राष्ट्रपति आइजन हॉवर भी ताजमहल देखने आए थे। वहीं 20 मार्च 2000 को अमेरिका के तत्कालीन राष्ट्रपति बिल क्लिंटन ताजमहल का दीदार करने आए था। बता दें कि वर्ष 2015 में अमेरिका के तत्कालीन राष्ट्रपति बराक ओबामा को भी ताजमहल देखने आना था। हालाकि बाद में उनका यहां आने का कार्यक्रम निरस्त हो गया था।