सम्मान : राष्ट्रपति ने पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी को भारत रत्न से किया सम्मानित

pranab mukherji
सम्मान : राष्ट्रपति ने पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी को भारत रत्न से किया सम्मानित

नई दिल्ली। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने गुरुवार को पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी को देश के सर्वोच्च नागरिक पुरस्कार भारत रत्न से सम्मानित किया। उनके साथ ही नाना जी देशमुख (मरणोपरांत) और डॉ. भूपेन हजारिका (मरणोपरांत) को भी भारत रत्न से सम्मानित किया गया है। गौरतलब हो कि गणतंत्र दिवस की पूर्व संध्या पर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद घोषणा की थी कि इस वर्ष भारत रत्न से सम्मानित किया जाएगा।

President Conferred Bharat Ratna On Former President Pranab Mukherjee :

वहीं प्रणब मुखर्जी को सर्वोच्च सम्मान मिलने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू ने उन्हें बधाई दी। वहीं, भूपने हजारिका के बेटे ने उनके बदले सम्मा​न प्राप्त किया। इसी तरह नानाजी देशमुख के भारत रत्न सम्मान को उनके बेटे वीरेंद्रजीत सिंह ने लिया।

बता दें कि पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी का अनुभव हर क्षेत्र में रहा है। प्रणब मुखर्जी वित्त, रक्षा, विधि और वाणिज्य मंत्रालय संभाल चुके हैं। वहीं, वे साल 2012 से लेकर 2017 तक देश के राष्ट्रपति रहे।

वहीं नानाजी देशमुख एक समर्पित समाजसेवी थे। उन्होने अपने पूरे जीवनकाल में समाज की सेवा की। ग्रामीण विकास में उनके योगदान को कभी भुलाया नहीं जा सकता। वहीं भूपेन हजारिका मशहूर लोक गायक थे और असम से ताल्लुक रखते हैं। हजारिका ने अपना पहला गाना 10 साल की उम्र में गाया था।

नई दिल्ली। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने गुरुवार को पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी को देश के सर्वोच्च नागरिक पुरस्कार भारत रत्न से सम्मानित किया। उनके साथ ही नाना जी देशमुख (मरणोपरांत) और डॉ. भूपेन हजारिका (मरणोपरांत) को भी भारत रत्न से सम्मानित किया गया है। गौरतलब हो कि गणतंत्र दिवस की पूर्व संध्या पर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद घोषणा की थी कि इस वर्ष भारत रत्न से सम्मानित किया जाएगा। वहीं प्रणब मुखर्जी को सर्वोच्च सम्मान मिलने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू ने उन्हें बधाई दी। वहीं, भूपने हजारिका के बेटे ने उनके बदले सम्मा​न प्राप्त किया। इसी तरह नानाजी देशमुख के भारत रत्न सम्मान को उनके बेटे वीरेंद्रजीत सिंह ने लिया। बता दें कि पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी का अनुभव हर क्षेत्र में रहा है। प्रणब मुखर्जी वित्त, रक्षा, विधि और वाणिज्य मंत्रालय संभाल चुके हैं। वहीं, वे साल 2012 से लेकर 2017 तक देश के राष्ट्रपति रहे। वहीं नानाजी देशमुख एक समर्पित समाजसेवी थे। उन्होने अपने पूरे जीवनकाल में समाज की सेवा की। ग्रामीण विकास में उनके योगदान को कभी भुलाया नहीं जा सकता। वहीं भूपेन हजारिका मशहूर लोक गायक थे और असम से ताल्लुक रखते हैं। हजारिका ने अपना पहला गाना 10 साल की उम्र में गाया था।