राष्ट्रपति कोविंद ने TDP मंत्रियों के इस्तीफा मंजूर किया

राष्ट्रपति कोविंद ने TDP मंत्रियों के इस्तीफा मंजूर किया
राष्ट्रपति कोविंद ने TDP मंत्रियों के इस्तीफा मंजूर किया

नई दिल्ली। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने शुक्रवार को नरेंद्र मोदी सरकार से तेलुगू देशम पार्टी (तेदेपा) के दो मंत्रियों के इस्तीफे स्वीकार कर लिए हैं। केंद्र सरकार द्वारा आंध्र प्रदेश को विशेष राज्य का दर्जा नहीं दिए जाने के विरोध में तेदेपा ने गुरुवार को राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) से समर्थन वापस ले लिया था।

President Kovind Of India Accepts Resignations Of Tdp Leaders Ashok Gajapathi Raju And Y S Chowdhary :

राष्ट्रपति भवन की ओर से जारी बयान के मुताबिक, “राष्ट्रपति ने मंत्रिमंडल से अशोक गजपति राजू और वाई.एस.चौधरी के इस्तीफे स्वीकार तत्काल भाव से कर लिए हैं।”राष्ट्रपति ने यह भी निर्देश दिए कि अब नागरिक उड्डयन मंत्रालय का कामकाज प्रधानमंत्री की देखरेख में होगा।

गौरतलब है कि अशोक गजपति राजू केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री थे जबकि चौधरी केंद्र में विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी राज्यमंत्री थे।

बजट के बाद से ही लगातार आंध्र प्रदेश के लिए विशेष दर्जे की मांग कर रही टीडीपी ने बुधवार रात केंद्र का साथ छोड़ दिया था। हालांकि, इन सबके बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने खुद गुरुवार की शाम आंध्र प्रदेश के सीएम चंद्रबाबू नायडू से बात की थी मगर दोनों के बीच सहमति नहीं बनी। इसके बाद केंद्रीय मंत्रिमंडल में शामिल टीडीपी के दोनों मंत्रियों से मुलाकात करने के बाद अपना इस्तीफा सौंप दिया।

हालांकि, टीडीपी ने साफ कर दिया है कि वह एनडीए का हिस्सा अभी भी है। मगर खबर है कि शुक्रवार को चंद्रबाबू नायडू ने टीडीपी नेताओं की एक आपात बैठक बुलाई है, जिसमें बीजेपी के साथ भविष्य में गठबंधन की संभवानाओं पर विचार किया जाएगा।

नई दिल्ली। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने शुक्रवार को नरेंद्र मोदी सरकार से तेलुगू देशम पार्टी (तेदेपा) के दो मंत्रियों के इस्तीफे स्वीकार कर लिए हैं। केंद्र सरकार द्वारा आंध्र प्रदेश को विशेष राज्य का दर्जा नहीं दिए जाने के विरोध में तेदेपा ने गुरुवार को राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) से समर्थन वापस ले लिया था।राष्ट्रपति भवन की ओर से जारी बयान के मुताबिक, "राष्ट्रपति ने मंत्रिमंडल से अशोक गजपति राजू और वाई.एस.चौधरी के इस्तीफे स्वीकार तत्काल भाव से कर लिए हैं।"राष्ट्रपति ने यह भी निर्देश दिए कि अब नागरिक उड्डयन मंत्रालय का कामकाज प्रधानमंत्री की देखरेख में होगा।गौरतलब है कि अशोक गजपति राजू केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री थे जबकि चौधरी केंद्र में विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी राज्यमंत्री थे।बजट के बाद से ही लगातार आंध्र प्रदेश के लिए विशेष दर्जे की मांग कर रही टीडीपी ने बुधवार रात केंद्र का साथ छोड़ दिया था। हालांकि, इन सबके बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने खुद गुरुवार की शाम आंध्र प्रदेश के सीएम चंद्रबाबू नायडू से बात की थी मगर दोनों के बीच सहमति नहीं बनी। इसके बाद केंद्रीय मंत्रिमंडल में शामिल टीडीपी के दोनों मंत्रियों से मुलाकात करने के बाद अपना इस्तीफा सौंप दिया।हालांकि, टीडीपी ने साफ कर दिया है कि वह एनडीए का हिस्सा अभी भी है। मगर खबर है कि शुक्रवार को चंद्रबाबू नायडू ने टीडीपी नेताओं की एक आपात बैठक बुलाई है, जिसमें बीजेपी के साथ भविष्य में गठबंधन की संभवानाओं पर विचार किया जाएगा।