यूपी विधानसभा की पीएसी के सदस्य नामित, लल्ला भइया और पंकज सिंह को मिला स्थान

Hriday-narayan-Dixit
यूपी विधानसभा की पीएसी के सदस्य नामित, लल्ला भइया और पंकज सिंह को मिला स्थान

लखनऊ। उत्तर प्रदेश की 17वीं विधानसभा के प्रथम वर्ष के लिए विधानसभा अध्यक्ष हृदय नारायण दीक्षित ने शुक्रवार को प्रथम वर्ष के लिए 26 सदस्यी लोक लेखा समिति (पीएसी) की घोषणा कर दी है। पीएसी में 21 विधायकों और 5 विधान परिषद् सदस्यों को शामिल किया गया है। जिसमें प्रत्येक क्षेत्र से एक वरिष्ठ विधायक को शामिल किया गया है। विधानसभा अध्यक्ष की ओर से कहा गया है कि इस समिति में विपक्षी दलों के सदस्यों को भी उनके प्रतिनिधियों की संख्या के आधार पर इस समिति में स्थान दिया गया है।

मिली जानकारी के मुताबिक विधानसभा अध्यक्ष की ओर से केवल पीएसी के सदस्यों को नामित किया है। जल्द ही पीएसी के सभापति के निर्वाचन के लिए तिथि निर्धारित की जाएगी, सभापति का चुनाव होने के बाद समिति को विधानसभा अध्यक्ष द्वारा काम शुरू करने की अनुमति प्रदान की जाएगी।

{ यह भी पढ़ें:- चार दिन बाद मिला 85 वर्षीय वृद्ध महिला का क्षत विक्षत शव, अब पश्चाताप कर रहा परिवार }

पीएसी के नामित सदस्यों में मुख्य नाम, गोण्डा से विधायक कुंवर अजय प्रताप सिंह ‘लल्ला भइया’, केन्द्रीय मंत्री राजनाथ सिंह के पुत्र और नोएडा ​से विधायक पंकज सिंह, लखनऊ से विधायक सुरेश चन्द्र श्रीवास्तव, मैनपुरी की भोगांव सीट से विधायक राम नरेश अग्निहोत्री, गोरखपुर से विधायक डॉ0 राधा मोहन अग्रवाल के हैं। अगर विपक्षी सदस्यों की बात की जाए तो समाजवादी पार्टी से पूर्व कैबिनेट मंत्री और अमरोहा से विधायक महबूब अली और बसपा से बलिया की रसड़ा सीट से विधायक उमाशंकर सिंह को पीएसी में स्थान मिला है।

आपको बता दें कि पीएसी विधायिका की कार्यपालिका पर नियंत्रण करने वाली महत्वपूर्ण वित्तीय समिति है। जो प्रदेश सरकार के राजस्व संचयन और खर्चों का आॅडिट करने का अधिकार रखती है। मुख्य रूप से इसका कार्य कैग की रिपोर्ट की समीक्षा करना होता है। पीएसी का कार्यकाल एक वर्ष का होता है, ​प्रत्येक वर्ष नई पीएसी का गठन होता है।

{ यह भी पढ़ें:- अखिलेश यादव की बढ़ी मुश्किलें, HC ने सरकार से मांगी बंगले में तोड़फोड़ की रिपोर्ट }

लखनऊ। उत्तर प्रदेश की 17वीं विधानसभा के प्रथम वर्ष के लिए विधानसभा अध्यक्ष हृदय नारायण दीक्षित ने शुक्रवार को प्रथम वर्ष के लिए 26 सदस्यी लोक लेखा समिति (पीएसी) की घोषणा कर दी है। पीएसी में 21 विधायकों और 5 विधान परिषद् सदस्यों को शामिल किया गया है। जिसमें प्रत्येक क्षेत्र से एक वरिष्ठ विधायक को शामिल किया गया है। विधानसभा अध्यक्ष की ओर से कहा गया है कि इस समिति में विपक्षी दलों के सदस्यों को भी उनके प्रतिनिधियों की संख्या…
Loading...