मन की बात में मोदी ने किया पटेल का गुणगान, जवानों को भी जमकर सराहा

नई दिल्ली। नरेंद्र मोदी ने रविवार को मन की बात की। ये मोदी के रेडियो प्रोग्राम का 37th एपिसोड था। मोदी ने कहा कि इस बार दिवाली पर खादी की रिकॉर्ड बिक्री हुई। पहले खादी फैशन फिर खादी फॉर नेशन था, अब खादी फॉर ट्रांसफॉर्मेशन का दौर आ रहा है। बता दें कि पीएम ने अक्टूबर, 2014 से देश की जनता से अपने विचार साझा करने के लिए मन की बात की शुरुआत की थी।

पीएम मोदी ने अपने संबोधन की शुरूआत खादी से की है। पीएम मोदी ने बताया कि खादी के दिल्ली स्थित शोरूम में खादी वस्त्रों की बिक्री में 90 फीसदी बढ़ी है। पीएम ने कहा कि इससे सीधा खादी उद्योग वाले गरीब परिवारों को होगा। खादी ग्रामीण विकास का साधन बनकर उभर रहा है। यह खादी फॉर नेशन और खादी फॉर फैशन के बाद खादी फॉर ट्रांसफॉर्मेशन बन रहा है।

{ यह भी पढ़ें:- मोदी के मंत्री ने मिशन स्वच्छता को दिखाया ठेंगा, सड़क पर किया टॉयलेट }

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जवानों के साथ मनाई दिवाली के बारे में कहा कि मुझे दिवाली पर एक बार फिर सुरक्षाबलों के साथ त्योहार मनाने का मौका मिला। ये मेरे लिए अविस्मरणीय रहा। जवानों के संघर्ष और समर्पण के लिए मैं उनका आदर करता हूं। हमारे जवान न सिर्फ सीमा पर बल्कि दुनियाभर में शांति के लिए काम कर रहे हैं। 24 अक्टूबर को संयुक्त राष्ट्र दिवस मनाया गया।

कार्यक्रम में पीएम मोदी की मुख्य बातें

  • योगा फॉर यंग इंडिया’ युवाओं को बीमारियों को रोकने और लड़ने की ताकत देता है।
  • समाज और परिवार को खानपान और दिनचर्या पर ध्यान देने की जरूरत है।
  • सिस्टर निवेदिता की 150वीं जयंती पर नमन।
  • 10 साल बाद भारत ने एशिया कप जीता. मैं पूरी हॉकी टीम को बधाई देता हूं।
  • मैं बैडमिंटन खिलाड़ी किदांबी श्रीकांत को डेनमार्क ओपन जीतने और भारत को गर्वांवित करने के लिए बधाई देता हूं।
  • हमारा देश भले ही फीफा जीत नहीं पाया हो लेकिन युवा खिलाड़यों ने दिल जीत लिया।
  • सभी को जवाहरलाल नेहरू जी के जन्मदिन पर मनाए जाने वाले बालदिवस की बधाई।
  • मोदी बोले-18000 से अधिक सुरक्षाबलों ने दुनियाभर में शांति स्थापित करने में अपनी सेवाएं दी हैं. यह पूरे विश्व में तीसरी सबसे बड़ी संख्या है।
  • मोदी ने कहा, महिला सुरक्षाबलों ने भी पूरी दुनिया में शांति स्थापित करने में मदद की है. आपको गर्व होगा कि भारत की भूमिका 85 देशों को प्रशिक्षण देने का भी काम में भी है। हम तो ‘वसुधैव कुटुम्बकम’ को मानने वाले हैं यानी पूरा विश्व हमारा परिवार है।

{ यह भी पढ़ें:- कोई नहीं है टक्कर में, आज भी देश के सबसे लोकप्रिय नेता मोदी }

Loading...