1. हिन्दी समाचार
  2. दिल्ली
  3. Ayushman Bharat Digital Mission लांच, पूरे देश में एक साथ लागू होगा: पीएम मोदी

Ayushman Bharat Digital Mission लांच, पूरे देश में एक साथ लागू होगा: पीएम मोदी

पीएम नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने सोमवार को आयुष्मान भारत डिजिटल मिशन (Ayushman Bharat Digital Mission) को लॉन्च कर दिया है। पीएम मोदी (PM Modi) ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग (video conferencing) के जरिए इस मिशन को लॉन्च करते हुए इसे ऐतिहासिक करार दिया है। उन्होंने कहा कि इसके तहत हर नागरिक के पास हेल्थ आईडी होगी। यह कार्ड पूरी तरह से डिजिटल होगा जो देखने में आधार कार्ड की तरह होगा। इस कार्ड पर आपको एक नंबर मिलेगा, जैसा नंबर आधार में होता है। इसी नंबर से स्वास्थ्य के क्षेत्र में व्यक्ति की पहचान होगी।

By संतोष सिंह 
Updated Date

नई दिल्ली। पीएम नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने सोमवार को आयुष्मान भारत डिजिटल मिशन (Ayushman Bharat Digital Mission) को लॉन्च कर दिया है। पीएम मोदी (PM Modi) ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग (video conferencing) के जरिए इस मिशन को लॉन्च करते हुए इसे ऐतिहासिक करार दिया है। उन्होंने कहा कि इसके तहत हर नागरिक के पास हेल्थ आईडी होगी। यह कार्ड पूरी तरह से डिजिटल (Digital ) होगा जो देखने में आधार कार्ड की तरह होगा। इस कार्ड पर आपको एक नंबर मिलेगा, जैसा नंबर आधार में होता है। इसी नंबर से स्वास्थ्य के क्षेत्र में व्यक्ति की पहचान होगी।

पढ़ें :- पीएम मोदी ने किया राष्ट्र को समर्पित किया सात नई रक्षा कंपनियां, कहीं ये बातें...

पीएम मोदी (PM Modi)  ने कहा कि बीते सात वर्षों में देश की स्वास्थ्य सुविधाओं को मजबूत करने का जो अभियान चल रहा है, वह आज से एक नए चरण में प्रवेश कर रहा है। आज एक ऐसे मिशन की शुरुआत हो रही है, जिसमें भारत की स्वास्थ्य सुविधाओं में क्रांतिकारी परिवर्तन लाने की ताकत है। पीएम नरेंद्र मोदी डिजिटल इंडिया अभियान बारे में बताते हुए कहा कि इसने देश के सामान्य नागरिक की ताकत बढ़ा दी है। आज हमारे देश के पास 130 करोड़ आधार नंबर, 118 करोड़ मोबाइल यूजर, 80 करोड़ इंटरनेट यूजर, 43 करोड़ जनधन बैंक खाते हैं।

उन्होंने कहा कि ऐसा दुनिया में कहीं नहीं है। पीएम मोदी (PM Modi)  ने कहा कि आरोग्य सेतु ऐप (Arogya Setu App) से कोरोना संक्रमण (corona infection) को फैलने से रोकने में मदद मिली, इसके साथ ही भारत सबको वैक्सीन-मुफ्त वैक्सीन दे रहा है। अब तक 90 करोड़ वैक्सीन लग पाई हैं और इसमें को-विन (co-win) का बहुत बड़ा रोल है।

ऐसे बनवाएं हेल्थ आईडी

पब्लिक हॉस्पिटल, कम्युनिटी हेल्थ सेंटर, हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर (Health and Wellness Center) या वैसा हेल्थकेयर प्रोवाइडर जो नेशनल हेल्थ इंफ्रास्ट्रक्चर रजिस्ट्री से जुड़ा हो, किसी व्यक्ति की हेल्थ आईडी बना सकता है। https://healthid.ndhm.gov.in/register पर खुद के रिकॉर्ड्स रजिस्टर करा कर भी आप अपनी हेल्थ आईडी बना सकते हैं।

पढ़ें :- पीएम मोदी के सलाहकार नियुक्ति ​हुए पूर्व आईएएस अफसर अमित खरे

यूनिक हेल्थ कार्ड से जानें क्या होगा फायदा?

यूनिक हेल्थ कार्ड बन जाने के बाद मरीज को डॉक्टर से दिखाने के लिए फाइल ले जाने से छुटकार मिलेगा। डॉक्टर या अस्पताल रोगी का यूनिक हेल्थ आईडी देखकर उसका पूरा डेटा निकालेंगे और सभी बातें जान सकेंगे। इसी आधार पर आगे का इलाज शुरू हो सकेगा। यह कार्ड ये भी बताएगा कि उस व्यक्ति को किन-किन सरकारी योजनाओं का लाभ मिलता है।

हेल्थ आईडी में ये बातें होंगी दर्ज

जिस व्यक्ति की आईडी बनेगी उससे मोबाइल नंबर और आधार नंबर लिया जाएगा

आधार और मोबाइल नंबर की मदद से यूनिक हेल्थ कार्ड बनाया जाएगा।

पढ़ें :- हमारे बापू को देश ही नहीं बल्कि पूरा विश्व मानवाधिकारों और मानवीय मूल्यों के प्रतीक के रूप में देखता है : पीएम मोदी

इसके लिए सरकार एक हेल्थ अथॉरिटी बनाएगी जो व्यक्ति का एक-एक डेटा जुटाएगी।

जिस व्यक्ति की हेल्थ आईडी बननी है, उसके हेल्थ रिकॉर्ड जुटाने के लिए हेल्थ अथॉरिटी की तरफ से इजाजत दी जाएगी। इसी आधार पर आगे का काम बढ़ाया जाएगा।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...