प्रधानमंत्री के शपथ समारोह में आठ देशों के नेता होंगे शामिल, पाकिस्तान को न्योता नहीं

pm modi
प्रधानमंत्री के शपथ समारोह में आठ देशों के नेता होंगे शामिल, पाकिस्तान को न्योता नहीं

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी 30 मई को दोबारा पीएम पद के लिए शपथ लेंगे। इस शपथ समारोह में बिम्सटेक समेत 8 देशों के नेता शामिल होंगे। बिम्सटेक में भारत के अलावा भूटान, श्रीलंका, थाईलैंड, म्यांमार, नेपाल और बांग्लादेश हैं। इसके साथ ही किर्गिस्तान के राष्ट्रपति और मॉरिशस के पीएम को भी शपथ समारोह में शामिल होने का न्योता दिया गया है।

Prime Ministers Oath Ceremony Will Include Leaders Of Eight Countries Not Invited To Pakistan :

वहीं बांग्लादेश की पीएम शेख हसीना तीन देशों की यात्रा पर होने की वजह से शपथ समारोह में शामिल नहीं हो पायेंगी। वहीं पाकिस्तान को निमंत्रण नहीं भेजा गया है। माना जा रहा है कि पाकिस्तान को शपथ ग्रहण से दूर रखने के लिए सार्क के नेता नहीं बुलाए गए। वहीं 2014 के शपथ समारोह में पाकिस्तान के पीएम नवाज शरीफ सहित सार्क के नेताओं को बुलाया गया था।

इस बार शपथ में शामिल होने का न्योता नहीं देकर मोदी ने यह स्पष्ट कर दिया कि सरकार दूसरे कार्यकाल में पाकिस्तान से दूरी बनाए रखेगी। लेकिन, बाकी पड़ोसी देशों के साथ संबंध बढ़ाए जाएंगे। सूत्रों ने बताया कि पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान ने जब फोन पर मोदी को बधाई दी थी, तब न तो भारत की ओर से उन्हें न्योता दिया गया और न ही उन्होंने आने की इच्छा जताई थी।

गौरतलब है कि राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद 30 मई को राष्ट्रपति भवन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पद व गोपनीयता की शपथ दिलाएंगे। प्रधानमंत्री मोदी का यह दूसरा कार्यकाल होगा। मंत्रिपरिषद के कई सदस्य भी पीएम मोदी के साथ शपथ ले सकते हैं।

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी 30 मई को दोबारा पीएम पद के लिए शपथ लेंगे। इस शपथ समारोह में बिम्सटेक समेत 8 देशों के नेता शामिल होंगे। बिम्सटेक में भारत के अलावा भूटान, श्रीलंका, थाईलैंड, म्यांमार, नेपाल और बांग्लादेश हैं। इसके साथ ही किर्गिस्तान के राष्ट्रपति और मॉरिशस के पीएम को भी शपथ समारोह में शामिल होने का न्योता दिया गया है। वहीं बांग्लादेश की पीएम शेख हसीना तीन देशों की यात्रा पर होने की वजह से शपथ समारोह में शामिल नहीं हो पायेंगी। वहीं पाकिस्तान को निमंत्रण नहीं भेजा गया है। माना जा रहा है कि पाकिस्तान को शपथ ग्रहण से दूर रखने के लिए सार्क के नेता नहीं बुलाए गए। वहीं 2014 के शपथ समारोह में पाकिस्तान के पीएम नवाज शरीफ सहित सार्क के नेताओं को बुलाया गया था। इस बार शपथ में शामिल होने का न्योता नहीं देकर मोदी ने यह स्पष्ट कर दिया कि सरकार दूसरे कार्यकाल में पाकिस्तान से दूरी बनाए रखेगी। लेकिन, बाकी पड़ोसी देशों के साथ संबंध बढ़ाए जाएंगे। सूत्रों ने बताया कि पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान ने जब फोन पर मोदी को बधाई दी थी, तब न तो भारत की ओर से उन्हें न्योता दिया गया और न ही उन्होंने आने की इच्छा जताई थी। गौरतलब है कि राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद 30 मई को राष्ट्रपति भवन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पद व गोपनीयता की शपथ दिलाएंगे। प्रधानमंत्री मोदी का यह दूसरा कार्यकाल होगा। मंत्रिपरिषद के कई सदस्य भी पीएम मोदी के साथ शपथ ले सकते हैं।