1. हिन्दी समाचार
  2. शिक्षा
  3. जेईई नीट परीक्षा को लेकर प्रियंका गांधी ने शिक्षामंत्री, प्रधानमंत्री से कहा क्या ये हमारे बच्चे नहीं हैं?

जेईई नीट परीक्षा को लेकर प्रियंका गांधी ने शिक्षामंत्री, प्रधानमंत्री से कहा क्या ये हमारे बच्चे नहीं हैं?

Priyanka Gandhi Asked The Education Minister Prime Minister About Jee Neet Exam Are They Not Our Children

By सोने लाल 
Updated Date

नई दिल्ली। जेईई और नीट की परीक्षाओं को लेकर सियासी गलियों में हड़कंप मचा हुआ है। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने कहा है कि कोरोना महामरी के बढ़ते हुए मामलों को देखते हुए जेईई और नीट की परीक्षाएं कराना छात्रों को खतरे में डाल सकता है। हमें छात्रों और उनके अभिभावकों की जो चिंताएं हैं, उनकी ओर ध्यान देना चाहिए। प्रियंका गांधी ने प्रंधानमंत्री नरेंद्र मोदी, केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल और नेशनल टेस्टिंग एजेंसी के डीजी को टैग करते हुए अपने ट्वीट में लिखा है कि कम से कुछ चीजों को तो राजनीति से परे रखना चाहिए।

पढ़ें :- सुप्रीम कोर्ट में यूपीएससी ने कहा-सिविल सेवा प्रारंभिक परीक्षा स्थगित करना असंभव

ये बच्चे देश का भविष्य हैं: प्रियंका

कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों को देखते हुए प्रियंका गांधी ने कहा कि इस माहौल में जेईई और नीट की परीक्षा देने जाने वाले छात्र-छात्राओं व उनके अभिवावकों की बात सुनना जरूरी है। क्या ये हमारे बच्चे नहीं है? ये बच्चे तो देश के भविष्य हैं। छात्र-छात्राओं की चिंताओं को संवेदना से देखा जाए ना कि हठ और राजनीतिक दृष्टि से। जिस तरह से बीमारी फैल रही है, बहुत से छात्रों को संक्रमण का खतरा है।

राहुल गांधी ने भी किया विरोध

राहुल गांधी ने भी इस हालात में परीक्षा कराए जाने का विरोध किया है। राहुल ने छात्रों के समर्थन में ऑनलाइन कैंपेन शुरू की है, जिसमें छात्रों समेत लोगों से जुड़ने की अपील की गई है, छात्रों की मांगों को सरकार तक पहुंचाया जाएगा। राहुल गांधी ने शुक्रवार सुबह ट्वीट कर लिखा- लाखों परेशान छात्रों के साथ अपनी आवाज जोड़िए। आइए, सरकार से छात्रों की बात सुनने की मांग करें। आज कांग्रेस कार्यकर्ता परिक्षाओं की तारीख आगे बढ़ाने की मांग को लेकर देशभर में विरोध प्रदर्शन भी कर रहे हैं।

अगले हफ्ते होनी हैं परीक्षा

देश में जेईई परीक्षा 1 सितंबर से 6 सितंबर 2020 के बीच होनी है। वहीं एनईईटी की परीक्षा 13 सितंबर 2020 को आयोजित होगी। कोरोना महामारी फैली होने और परिवहन व्यवस्थाओं पर कई तरह की पाबंदियां होने के चलते देशभर से छात्र संगठन और विपक्षी दल परीक्षा को फिलहाल टाल देने की अपील कर रहे हैं। कांग्रेस, समाजवादी पार्टी और कई दूसरे दल इसको लेकर सड़कों पर हैं।

पढ़ें :- बिहार में टीचर की निकली वैकेंसी, जानिए किस सब्जेक्ट में कितने पद

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...