भीम आर्मी के प्रमुख चंद्रशेखर की गिरफ्तार पर बोलीं प्रियंका-दलितों की आवाज का ये अपमान बर्दाश्त से बाहर

priyanka
भीम आर्मी के प्रमुख चंद्रशेखर की गिरफ्तार पर बोलीं प्रियंका-दलितों की आवाज का ये अपमान बर्दाश्त से बाहर

नई दिल्ली। दिल्ली में रविदास मंदिर तोड़े जाने के विरोध में रामलीला मैदान में जुटे भीम आर्मी के कार्यकर्ता उग्र हो गए। इस दौरान उन्होंने पत्थरबाजी किया। बवाल बढ़ने पर पुलिस ने बल प्रयोग करके भीम आर्मी के प्रमुख चंद्रशेखर समेत कई लोगों को गिरफ्तार कर लिया। वहीं, इसके बाद कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी उनके बचाव में उतर आईं। उन्होंने ट्वीट कर ​बीजेपी पर निशाना साधा है।

Priyanka Gandhi Attacked Modi Government :

प्रियंका ने अपने ट्वीट में लिखा है कि, ‘बीजेपी सरकार पहले करोड़ों दलित बहनों—भाइयों की सांस्कृतिक विरासत के प्रतीक रविदास मंदिर स्थल से खिलवाड़ करती है और जब देश की राजधानी में हजारों दलित भाई बहन अपनी आवाज उठाते हैं तो बीजेपी उन पर लाठी बरसाती है और आंसू गैस चलवाती है, गिरफ़्तार करती है।’ इसके साथ ही उन्होंने एक और ट्वीट किया है।

उन्होंने लिखा है कि, ​’दलितों की आवाज को ये अपमान बर्दाश्त से बाहर है। यह एक जज्बाती मामला है उनकी आवाज का आदर होना चाहिए।’ बता दें कि, रविदास मंदिर तोड़े जाने के विरोध में रामलीला मैदान में जुटे लोग बुधवार शाम तुगलकाबाद पहुंचे गए। इस दौरान हजारों लोगों ने तोड़े गए मंदिर की ओर कूच करने की कोशिश की। इस दौरान पुलिस ने उन्हें रोकने की कोशिश की तो इन लोगों ने पथराव शुरू कर दिया। इसके बाद पुलिस ने बल प्रयोग करके चंद्रशेखर समेत अन्य लोगों को गिरफ्तार कर लिया।

नई दिल्ली। दिल्ली में रविदास मंदिर तोड़े जाने के विरोध में रामलीला मैदान में जुटे भीम आर्मी के कार्यकर्ता उग्र हो गए। इस दौरान उन्होंने पत्थरबाजी किया। बवाल बढ़ने पर पुलिस ने बल प्रयोग करके भीम आर्मी के प्रमुख चंद्रशेखर समेत कई लोगों को गिरफ्तार कर लिया। वहीं, इसके बाद कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी उनके बचाव में उतर आईं। उन्होंने ट्वीट कर ​बीजेपी पर निशाना साधा है। प्रियंका ने अपने ट्वीट में लिखा है कि, 'बीजेपी सरकार पहले करोड़ों दलित बहनों—भाइयों की सांस्कृतिक विरासत के प्रतीक रविदास मंदिर स्थल से खिलवाड़ करती है और जब देश की राजधानी में हजारों दलित भाई बहन अपनी आवाज उठाते हैं तो बीजेपी उन पर लाठी बरसाती है और आंसू गैस चलवाती है, गिरफ़्तार करती है।' इसके साथ ही उन्होंने एक और ट्वीट किया है। उन्होंने लिखा है कि, ​'दलितों की आवाज को ये अपमान बर्दाश्त से बाहर है। यह एक जज्बाती मामला है उनकी आवाज का आदर होना चाहिए।' बता दें कि, रविदास मंदिर तोड़े जाने के विरोध में रामलीला मैदान में जुटे लोग बुधवार शाम तुगलकाबाद पहुंचे गए। इस दौरान हजारों लोगों ने तोड़े गए मंदिर की ओर कूच करने की कोशिश की। इस दौरान पुलिस ने उन्हें रोकने की कोशिश की तो इन लोगों ने पथराव शुरू कर दिया। इसके बाद पुलिस ने बल प्रयोग करके चंद्रशेखर समेत अन्य लोगों को गिरफ्तार कर लिया।