प्रियंका गांधी का योगी सरकार पर हमला, मजदूरों को लेकर कही ये बात

priyanka gandhi
प्रियंका गांधी का योगी सरकार पर हमला, मजदूरों को लेकर कही ये बात

लखनऊ। कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका वाड्रा ने उत्तर प्रदेश की बीजेपी सरकार पर फिर हमला बोला है। प्रियंका ने योगी सरकार से पूछा कि क्या सरकार मजदूरों को बंधुआ बनाना चाहती है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की एक घोषणा के बाद बुधवार को उन्होंने यह सवाल किया। प्रियंका ने कहा कि सरकार श्रमिकों के संवैधानिक अधिकारों को खत्म करना चाहती है।

Priyanka Gandhis Attack On Yogi Government Said This About Laborers :

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने हाल ही में कहा था कि अगर किसी राज्य को कामगारों की आवश्यकता होगी तो उनकी मांग पर सामाजिक सुरक्षा की गारंटी राज्य सरकार देगी। बीमा कराएगी और श्रमिक एवं कामगार को हर तरह की सुरक्षा देगी। इसके साथ ही कोई भी राज्य सरकार बिना अनुमति के उत्तर प्रदेश के लोगों को श्रमिक व कामगार के रूप में लेकर नहीं जाएगी।

सीएम योगी के इसी बयान पर प्रियंका गांधी ने सवाल किया है। उन्होंने ट्वीट कर पूछा, ‘श्रमिकों की मदद करने के बजाय उत्तर प्रदेश सरकार का एक हैरतअंगेज फैसला आ गया कि श्रमिकों को उनकी अनुमति के बिना कोई श्रम के लिए नहीं ले जा सकेगा।’ उन्होंने सवाल किया, ‘क्या सरकार श्रमिकों को बंधुआ बनाएगी? क्या सरकार श्रमिकों से उनके संवैधानिक अधिकार को खत्म करना चाहती है?’

लखनऊ। कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका वाड्रा ने उत्तर प्रदेश की बीजेपी सरकार पर फिर हमला बोला है। प्रियंका ने योगी सरकार से पूछा कि क्या सरकार मजदूरों को बंधुआ बनाना चाहती है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की एक घोषणा के बाद बुधवार को उन्होंने यह सवाल किया। प्रियंका ने कहा कि सरकार श्रमिकों के संवैधानिक अधिकारों को खत्म करना चाहती है। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने हाल ही में कहा था कि अगर किसी राज्य को कामगारों की आवश्यकता होगी तो उनकी मांग पर सामाजिक सुरक्षा की गारंटी राज्य सरकार देगी। बीमा कराएगी और श्रमिक एवं कामगार को हर तरह की सुरक्षा देगी। इसके साथ ही कोई भी राज्य सरकार बिना अनुमति के उत्तर प्रदेश के लोगों को श्रमिक व कामगार के रूप में लेकर नहीं जाएगी। सीएम योगी के इसी बयान पर प्रियंका गांधी ने सवाल किया है। उन्होंने ट्वीट कर पूछा, 'श्रमिकों की मदद करने के बजाय उत्तर प्रदेश सरकार का एक हैरतअंगेज फैसला आ गया कि श्रमिकों को उनकी अनुमति के बिना कोई श्रम के लिए नहीं ले जा सकेगा।' उन्होंने सवाल किया, 'क्या सरकार श्रमिकों को बंधुआ बनाएगी? क्या सरकार श्रमिकों से उनके संवैधानिक अधिकार को खत्म करना चाहती है?'