मनी लांड्रिंग मामला : राबर्ड वाड्रा ने कोर्ट में दी अग्रिम जमानत की अर्जी, ED करेगी विरोध

robert wadra
मनी लांड्रिंग मामला : राबर्ड वाड्रा ने कोर्ट में दी अग्रिम जमानत की अर्जी, ED करेगी विरोध

नई दिल्ली। मनी लांड्रिंग के केस में फेंस राहुल गांधी के बहनोई और प्रियंका गांधी के पति ने रॉबर्ट वाड्रा ने गिरफ्तारी से बचने के लिए अदालत में अर्जी लगाई है। इस मामले में आज दिल्ली की पटियाला हाउस अदालत आज फैसला सुना सकती है। केस की सुनवाई दोपहर 2 बजे होनी है। बताया जा रहा है कि ईडी उनकी जमानत का विरोध करेगी। बता दें कि चुनाव प्रचार के बीच अगर राबर्ट वाड्रा की गिरफ्तारी होती है तो ये काफी अहम होगा।

Priyanka Gandhis Husband Robert Vadra Anticipatory Bail In Money Laundering Case At Patiyala House Court :

फिलहाल रॉबर्ट वाड्रा ने अग्रिम जमानत मांगी है। इस मामले में उनके करीबी मनोज अरोड़ा की गिरफ्तारी पर अदालत ने 6 फरवरी तक अंतरिम रोक लगा दी थी। बता दें कि ये मामला लंदन के 12 ब्रायंस्टन स्क्वायर पर स्थित एक संपत्ति की खरीद में मनी लॉन्ड्रिंग से जुड़ा हुआ है। बताया जा रहा है कि वाड्रा के मालिकाना हक वाली ये प्रापर्टी 19 लाख पाउंड में खरीदी गई थी।

प्रवर्तन निदेशालय ने 19 जनवरी को कोर्ट को बताया कि था कि वाड्रा के सहयोगी मनोज अरोड़ा जांच में सहयोग कर रहे हैं, जिसके बाद अदालत ने उन्हे राहत दे दी थी। इसके पहले अरोड़ा ने कोर्ट को बताया कि राजनीतिक द्वेश के चलते मोदी सरकार ने उन्हे फर्जी केस में फंसाया है। हालाकि ईडी ने इस आरोप को बेबुनियाद बताया था।

नई दिल्ली। मनी लांड्रिंग के केस में फेंस राहुल गांधी के बहनोई और प्रियंका गांधी के पति ने रॉबर्ट वाड्रा ने गिरफ्तारी से बचने के लिए अदालत में अर्जी लगाई है। इस मामले में आज दिल्ली की पटियाला हाउस अदालत आज फैसला सुना सकती है। केस की सुनवाई दोपहर 2 बजे होनी है। बताया जा रहा है कि ईडी उनकी जमानत का विरोध करेगी। बता दें कि चुनाव प्रचार के बीच अगर राबर्ट वाड्रा की गिरफ्तारी होती है तो ये काफी अहम होगा।फिलहाल रॉबर्ट वाड्रा ने अग्रिम जमानत मांगी है। इस मामले में उनके करीबी मनोज अरोड़ा की गिरफ्तारी पर अदालत ने 6 फरवरी तक अंतरिम रोक लगा दी थी। बता दें कि ये मामला लंदन के 12 ब्रायंस्टन स्क्वायर पर स्थित एक संपत्ति की खरीद में मनी लॉन्ड्रिंग से जुड़ा हुआ है। बताया जा रहा है कि वाड्रा के मालिकाना हक वाली ये प्रापर्टी 19 लाख पाउंड में खरीदी गई थी।प्रवर्तन निदेशालय ने 19 जनवरी को कोर्ट को बताया कि था कि वाड्रा के सहयोगी मनोज अरोड़ा जांच में सहयोग कर रहे हैं, जिसके बाद अदालत ने उन्हे राहत दे दी थी। इसके पहले अरोड़ा ने कोर्ट को बताया कि राजनीतिक द्वेश के चलते मोदी सरकार ने उन्हे फर्जी केस में फंसाया है। हालाकि ईडी ने इस आरोप को बेबुनियाद बताया था।