1. हिन्दी समाचार
  2. प्रियंका बोलीं- ‘बसों को चलाने की परमीशन दीजिए योगी जी’, आखिर यूपी सरकार क्यों नही दे रही स्वीकृति?

प्रियंका बोलीं- ‘बसों को चलाने की परमीशन दीजिए योगी जी’, आखिर यूपी सरकार क्यों नही दे रही स्वीकृति?

Priyanka Said Give Permission To Run Buses Yogi Ji Why The Up Government Is Not Giving Approval

भरतपुर। भरतपुर और अलवर से 500 बसें उत्तर प्रदेश रवाना होने के लिए तैयार हैं. ये सारी बसें यूपी के बहज गोबर्धन बॉर्डर पर पहुंच चुकी हैं. यह सूचना कांग्रेस की महासचिव और पूर्वी उत्तर प्रदेश की प्रभारी प्रियंका गांधी के कार्यालय ने ट्वीट कर दी है. ट्वीट में प्रियंका गांधी कार्यालय ने उत्तर प्रदेश की योगी सरकार से पैदल चल रहे मजदूरों के लिए अनुमति भी मांगी है. वहीं​ प्रियंका गांधी ने आज वीडियो मैसेज के माध्यम से सीएम योगी से बसे चलाने की अनुमति मांगी है, बता दें कि पहले भी पत्र लिखकर प्रियंका ने योगी सरकार से अपील की थी।

पढ़ें :- इंग्लैंड के खिलाफ होने वाले टेस्ट सीरीज के लिए भारतीय टीम का ऐलान, इनको मिली जगह

प्रियंका गांधी ने ट्वीट कर कहा, आदरणीय मुख्यमंत्री जी, मैं आपसे निवेदन कर रही हूँ, ये राजनीति का वक्त नहीं है। हमारी बसें बॉर्डर पर खड़ी हैं। हजारों श्रमिक, प्रवासी भाई बहन बिना खाये पिये, पैदल दुनिया भर की मुसीबतों को उठाते हुए अपने घरों की ओर चल रहे हैं। हमें इनकी मदद करने दीजिए। हमारी बसों को परमीशन दीजिए। हमारी बसें बॉर्डर पर खड़ी हैं। हजारों की संख्या में राष्ट्र निर्माता श्रमिक और प्रवासी भाई-बहन धूप में पैदल चल रहे हैं। परमीशन दीजिए योगी जी, हमें अपने भाइयों और बहनों की मदद करने दीजिए।

पढ़ें :- कुर्की के आदेश के बाद नसीमुद्दीन और रामअचल राजभर ने कोर्ट में किया सरेंडर, भेजे गए जेल


प्रियंका गांंधी ने कहा कि यूपी के हर बॉर्डर पर बहुत बड़ी संख्या में अप्रवासी मजदूर इकट्ठा हो गए है. वे यहां धूप और गर्मी में पैदल चलकर पहुंच रहे हैं. आज भी उन्हें बॉर्डर पर घंटों खड़ा रखा जा रहा है. उन्हें उत्तर प्रदेश की सीमाओं में प्रवेश नहीं करने दिया जा रहा है. लॉक डाउन के चलते उनके पास पिछले 50 दिनों से कोई काम नहीं है. उनकी आजीविका के साधन बंद पड़े हैं.

प्रियंका ने सीएम योगी को ​पत्र भी लिखा

पढ़ें :- ऑस्ट्रेलिया को हराने के बाद टीम इंडिया पर रुपयों की बारिश, पांच करोड़ का मिला बोनस

प्रियंका गांधी ने श्रमिकों और मजदूरों के संबंध में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को 16 मई को एक और पत्र लिखकर कहा था कि लाखों मजदूर अपने घर लौट रहे हैं. लेकिन उनके घर लौटने के लिए कोई इंतजाम नहीं किया गया है. दर्जनों मजदूर सड़क दुर्घटना में मारे जा रहे हैं तो बहुत से कोरोनावायरसकी चपेट में आकर जान गंवा रहे हैं.

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...