कानपुर के शेल्टर होम पर बोलीं प्रियंका-मैं इंदिरा गांधी की पोती हूं, कुछ विपक्ष के नेताओं की तरह BJP की अघोषित प्रवक्ता नहीं

priyanka gandhi
कानपुर के शेल्टर होम पर बोलीं प्रियंका-मैं इंदिरा गांधी की पोती हूं, कुछ विपक्ष के नेताओं की तरह BJP की अघोषित प्रवक्ता नहीं

लखनऊ। कानपुर के शेल्टर होम का मामला तूल पकड़ता जा रहा है। राजनीतिक पार्टियां इसको लेकर विरोध प्रदर्शन कर रही हैं। वहीं, कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी इस मामले को लेकर लगातार उत्तर प्रदेश की योगी सरकार पर हमलावर है। वहीं, इस मामले में उत्तर प्रदेश बाल संरक्षण आयोग ने प्रियंका गांधी वाड्रा को नोटिस भेजा था, जिसका पलटवार करते हुए ​प्रियंका गांधी ने कहा कि मैं इंदिरा गांधी की पोती हूं, कोई भाजपा की अघोषित प्रवक्ता नहीं हूं।

Priyanka Spoke At The Shelter Home In Kanpur I Am The Granddaughter Of Indira Gandhi Not An Unannounced Spokesperson Of The Bjp Like Some Opposition Leaders :

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने आज एक ट्वीट कर हमला बोला है। उन्होंने ट्वीट में लिखा है कि, ‘जनता के एक सेवक के रूप में मेरा कर्तव्य यूपी की जनता के प्रति है और वह कर्तव्य सच्चाई को उनके सामने रखने का है। किसी सरकारी प्रॉपेगेंडा को आगे रखना नहीं है। यूपी सरकार अपने अन्य विभागों द्वारा मुझे फिजूल की धमकियां देकर अपना समय व्यर्थ कर रही है।’

उन्होंने आगे लिखा कि जो भी कार्यवाही करना चाहते हैं, बेशक करें। मैं सच्चाई सामने रखती रहूंगी। मैं इंदिरा गांधी की पोती हूं, कुछ विपक्ष के नेताओं की तरह भाजपा की अघोषित प्रवक्ता नहीं। बता दें कि कानपुर के एक शेल्टर होम में बीते दिनों उस वक्त हड़कंप मच गया था, जब यहां 57 लड़कियां कोरोना वायरस पॉजिटिव पाई गई थीं। इसके अलावा इनमें से करीब 6 लड़कियां गर्भवती भी थीं। इसी के बाद से प्रियंका गांधी इस मामले को लगाातार उठा रही हैं।

 

लखनऊ। कानपुर के शेल्टर होम का मामला तूल पकड़ता जा रहा है। राजनीतिक पार्टियां इसको लेकर विरोध प्रदर्शन कर रही हैं। वहीं, कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी इस मामले को लेकर लगातार उत्तर प्रदेश की योगी सरकार पर हमलावर है। वहीं, इस मामले में उत्तर प्रदेश बाल संरक्षण आयोग ने प्रियंका गांधी वाड्रा को नोटिस भेजा था, जिसका पलटवार करते हुए ​प्रियंका गांधी ने कहा कि मैं इंदिरा गांधी की पोती हूं, कोई भाजपा की अघोषित प्रवक्ता नहीं हूं। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने आज एक ट्वीट कर हमला बोला है। उन्होंने ट्वीट में लिखा है कि, ‘जनता के एक सेवक के रूप में मेरा कर्तव्य यूपी की जनता के प्रति है और वह कर्तव्य सच्चाई को उनके सामने रखने का है। किसी सरकारी प्रॉपेगेंडा को आगे रखना नहीं है। यूपी सरकार अपने अन्य विभागों द्वारा मुझे फिजूल की धमकियां देकर अपना समय व्यर्थ कर रही है।' उन्होंने आगे लिखा कि जो भी कार्यवाही करना चाहते हैं, बेशक करें। मैं सच्चाई सामने रखती रहूंगी। मैं इंदिरा गांधी की पोती हूं, कुछ विपक्ष के नेताओं की तरह भाजपा की अघोषित प्रवक्ता नहीं। बता दें कि कानपुर के एक शेल्टर होम में बीते दिनों उस वक्त हड़कंप मच गया था, जब यहां 57 लड़कियां कोरोना वायरस पॉजिटिव पाई गई थीं। इसके अलावा इनमें से करीब 6 लड़कियां गर्भवती भी थीं। इसी के बाद से प्रियंका गांधी इस मामले को लगाातार उठा रही हैं।