बेटे ने बीमार मां को चौथी मंजिल से फेंका, तीन महीने बाद CCTV से हुआ खुलासा

rajkot

राजकोट। गुजरात के राजकोट से दिल दहला देने वाला एक मामला सामने आया है। यहां कलयुगी बेटे ने अपनी बीमार मां को चौथी मंजिल से फेंक दिया, जिससे उनकी मौत हो गयी। यह पूरी वारदात सीसीटीवी में कैद हो गयी थी। मामला तीन महीने पुराना है। पुलिस ने पहले इसे आत्महत्या मानकर पड़ताल बंद कर दी थी लेकिन एक गुमनाम चिट्ठी के बाद हरकत में आई पुलिस ने जब सीसीटीवी खंगाले तो पूरी घटना का पर्दाफाश हुआ। पुलिस ने आरोपी बेटे को गिरफ्तार कर लिया है।

मिली जानकारी के मुताबिक, राजकोट के 150 फीट रोड नानावटी चौके के पास स्थित रामेश्वर अपार्टमेंट में जयश्रीबेन (64) अपने बेटे संदीप नाथवाणी (35) और बहू के साथ रहती थीं। जयश्री बेन सेवानिवृत शिक्षक थीं, जबकि बेटा संदीप राजकोट के बीके मेडकिल गवर्नमेंट कॉलेज में असिसटेंट प्रोफेसर के तौर पर कार्यरत है। जयश्री बेन को दिमागी बीमारी थी। उनका अस्पताल में इलाज चल रहा था।

{ यह भी पढ़ें:- कूड़ा बीनने गए दलित दंपति की बेरहमी से पिटाई, जाति पूछकर उतार दिया मौत के घाट }

बीते सितंबर महीने में जयश्रीबेन की चौथी मंजिल से गिरकर मौत हो गई थी। उस समय पुलिस ने आत्महत्या का मामला दर्ज कर जांच की थी। पुलिस के मुताबिक, एक स्थानीय फार्मेसी कॉलेज में पढ़ाने वाले संदीप नथवानी (36) ने 29 सितंबर को अपनी मां जयश्रीबेन को कथित तौर पर छत से धकेल दिया था। वह अपनी मां की बीमारी से परेशान हो गया था।

सीसीटीवी फुटेज में संदीप की ये हरकत रिकॉर्ड हो गई थी। जिसके आधार पर पुलिस ने संदीप को गिरफ्तार कर लिया है।

{ यह भी पढ़ें:- पेंशन के लालच में तीन साल तक मां को फ्रिज में रखा दफ्न, अंगूठे से होता रहा वेरिफिकेशन }

राजकोट। गुजरात के राजकोट से दिल दहला देने वाला एक मामला सामने आया है। यहां कलयुगी बेटे ने अपनी बीमार मां को चौथी मंजिल से फेंक दिया, जिससे उनकी मौत हो गयी। यह पूरी वारदात सीसीटीवी में कैद हो गयी थी। मामला तीन महीने पुराना है। पुलिस ने पहले इसे आत्महत्या मानकर पड़ताल बंद कर दी थी लेकिन एक गुमनाम चिट्ठी के बाद हरकत में आई पुलिस ने जब सीसीटीवी खंगाले तो पूरी घटना का पर्दाफाश हुआ। पुलिस ने आरोपी…
Loading...