1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. बसपा के पूर्व महासचिव नसीमुद्दीन सिद्दीकी और राम अचल राजभर की संपत्ति कुर्क

बसपा के पूर्व महासचिव नसीमुद्दीन सिद्दीकी और राम अचल राजभर की संपत्ति कुर्क

Property Attached To Former Bsp General Secretary Nasimuddin Siddiqui And Ram Achal Rajbhar

By टीम पर्दाफाश 
Updated Date

लखनऊ: स्पेशल एमपी एमएलए कोर्ट (Special MP MLA Court) ने बीजेपी नेता दयाशंकर सिंह की बेटी और परिवार के अन्य सदस्यों के खिलाफ अभद्र भाषा का इस्तेमाल करने के मामले में बीएसपी के पूर्व राष्ट्रीय महासचिव नसीमुद्दीन सिद्दीकी (Nasimuddin Siddiqui) और वरिष्ठ नेता राम अचल राजभर (Ram Achal Rajbhar) की संपत्ति की कुर्की के आदेश दिए हैं।

पढ़ें :- उत्तर प्रदेश: बजट पास होने के बाद विधानसभा की कार्यवाही अनिश्चितकाल तक के लिए स्थगित

न्यायाधीश पी. के. राय की अदालत ने सोमवार को यह आदेश देते हुए हजरतगंज पुलिस से कहा कि वह आगामी 22 जनवरी को इस निर्देश पर किए गए अमल की रिपोर्ट दे। दोनों आरोपी बार-बार वारंट जारी होने के बावजूद अदालत में हाजिर नहीं हुए थे। बाद में अदालत ने दोनों को भगोड़ा घोषित कर दिया था। दरअसल जुलाई 2016 में बीजेपी के वरिष्ठ नेता दयाशंकर सिंह की ओर से बीएसपी सुप्रीमो मायावती के प्रति आपत्तिजनक टिप्पणी किए जाने के बाद खासा विवाद उत्पन्न हुआ था।

इसके विरोध में बीएसपी कार्यकर्ताओं ने जमकर प्रदर्शन किया था। दयाशंकर सिंह की मां तेतरा देवी ने 22 जुलाई 2016 को हजरतगंज कोतवाली में दर्ज मामले में आरोप लगाया था कि बीएसपी अध्यक्ष मायावती ने राज्यसभा में उनके परिवार पर आपत्तिजनक टिप्पणी की थी।

उसके अगले दिन पार्टी के तत्कालीन राष्ट्रीय महासचिव नसीमुद्दीन सिद्दीकी और उस वक्त के प्रदेश अध्यक्ष राम अचल राजभर की अगुवाई में बड़ी संख्या में बीएसपी कार्यकर्ताओं ने हजरतगंज चौराहे पर किए गए प्रदर्शन में तेतरा देवी की नाबालिग पोती और परिवार के अन्य सदस्यों के बारे में अशोभनीय टिप्पणी की थी और अपशब्दों का इस्तेमाल किया था।

पढ़ें :- आप के लगातार बढ़ते जनाधार से दूसरे दलों के लिए संकट, यूपी में योगी को मिलेगी टक्कर

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...