1. हिन्दी समाचार
  2. लखनऊ में प्रापर्टी डीलर को गोलियों से भूना, रुपयों के विवाद में हत्या का आशंका

लखनऊ में प्रापर्टी डीलर को गोलियों से भूना, रुपयों के विवाद में हत्या का आशंका

Property Dealer Fires In Lucknow Feared Killed In Dispute Over Money

By शिव मौर्या 
Updated Date

लखनऊ। पीजीआई क्षेत्र के वृंदावन में कार सवार बदमाशों ने प्रापर्टी डीलर दुर्गेश यादव की गोली मारकर हत्या कर दी। वारदात की सूचना पर हड़कंप मच गया। सूचना पर पहुंची पुलिस ने आनन-फानन में खून से लथपथ दुर्गेश को उपचार के लिए असपताल में भर्ती कराया, जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। वहीं, इस मामले में पुलिस ने मनीष यादव को हिरासत में लिया है, जिनसे पूछताछ की जा रही है।

पढ़ें :- दीनदयाल जी ने देश को एकात्म मानववाद जैसी प्रगतिशील विचारधारा दी : रवि किशन

मूल रूप से गोरखपुर के रहने वाले दुर्गेश यादव पीजीआई के वृंदावन सेक्टर 14 में रहते थे। दुर्गेश प्रापर्टी डीलर थे। बुधवार सुबह कार सवार कुछ लोग उनके घर पहुंचे, जहां उन पर ताबड़तोड़ गोलियां चला दीं। गोली लगने से दुर्गेश खून से लथपथ होकर वहीं गिर गए और मौके पर ही उन्होंने दम तोड़ दिया।

बताया जा रहा है कि दुर्गेश के मकान मालिक गृह विभाग में नौकरी करते हैं। एसीपी कैंट बीनू सिंह के मुताबिक सुबह एसयूवी सवार लोग दुर्गेश के घर आए थे। अंदर बैठकर काफी देर तक बातचीत हुई। बाहर जाते समय किसी बात को लेकर विवाद हुआ था। आशंका है कि रुपये के लेनदेन में विवाद हुआ, इसके बाद दुर्गेश को गोली मारी गई।

पुलिस आसपास के सीसीटीवी फुटेज के आधार पर बदमाशों की तलाश में जुट गई। वहीं, शुरूआती जांच में पता लगा कि आरोपियों के साथ एक महिला भी थी, जिसका नाम पलक ठाकुर बताया जा रहा है। सूत्रों की माने तो दुर्गेश यादव के खिलाफ लखनऊ और गोरखपुर में आठ से अधिक मुकदमे दर्ज हैं।

दो साल पहले उसके खिलाफ हजरतगंज थाने में नौकरी के नाम पर ठगी का मुकदमा दर्ज हुआ था। दुर्गेश को गोरखपुर के उरुवा थाने का हिस्ट्रीशीटर भी बताया जा रहा है। वहां उसके खिलाफ डकैती व लूट के भी मुकदमे दर्ज हैं।

पढ़ें :- ड्रग्स के खिलाफ मुहीम को आगे बढ़ाने के लिए मुख्यमंत्री जी का आभारी हूँ: सांसद रवि किशन

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...