राजधानी में प्रतिबंधित पशु के काटे जाने पर तनाव, मामला दर्ज

लखनऊ। अभी हाल ही में यूपी के दादरी कांड का मामल शांत नही हो पाया था कि राजधानी में भी प्रतिबंधित पशु के काटे जाने का मामला प्रकाश में आया। गुड़म्बा इलाके में तीन गौवंस काटे जाने की सूचना से पुलिस व प्रशासन में हड़कंप मच गया। आक्रोशित लोगों ने थाने का घेराव कर कार्रवाई की मांग की। पुलिस ने आनन-फानन में चार लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कर पड़ताल शुरू कर दी है। 

मालूम हो कि इलाके के पलका गांव में रविवार दोपहर प्रतिबंधित पशु के अवशेष मिले थे। आक्रोशित लोगों ने प्रदर्शन शुरू कर थाने का घेराव किया तो पुलिस ने चार लोगों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर जांच शुरू की। जिन पशुओं को काटा गया है, उनमें बीकेटी के भगतपुर निवासी जीतू के दो पशु एवं नत्थाराम के तीन पशु चरने गए थे। वापस न होने पर तलाश शुरू की तो पलका गांव में तालाब किनारे एक पशु जिन्दा मिला जबकि बाकी के अवशेष मिले थे।

बताया जा रहा है कि इस संबंध में रानिक शाह, आरिफ, पुत्तन, जकीर व अचरामऊ के जलाल के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज करायी थी, लेकिन पुलिस ने आरोपियों की अभी तक गिरफ़्तारी नहीं की है। उन्होंने आरोपियों को गिरफ्तार कर पीडितों को दो- दो लाख रुपये मुआवजा देने की मांग की है।