आपकी चहेती pulse कैंडी ने दो सालों में 300 करोड़ की कमाई कर बनाया रिकार्ड

नई दिल्ली| भारत में बनी कच्चे आम के स्वाद वाली टॉफी पल्स ने मार्केट में आते ही धमाल मचा दिया था| इसका नाम सुनते ही लोगों के मुंह में पानी आ जाता है| इस टॉफी की मांग दिन ब दिन बढ़ती जा रही है| इसकी लोकप्रियता का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि इस टॉफी ने लांचिंग के आठ महीने के अंदर ने 100 करोड़ का आंकड़ा छू लिया था| वहीँ दो सालों में इसकी कमाई 300 करोड़ के पार कर गई गई है| इसके साथ ही पल्स भारतीय कैंडी बाजार में तीसरे स्थान पर पहुंच गई है| इसके आगे सिर्फ पार्ले और ऐल्पेन्लिबे’ है|




मशहूर ब्राण्ड ऑरियो जो साल 2011 में भारत में लॉन्च किया गया था वह भी सिर्फ 283 करोड़ तक ही पहुंच पाया है| ऑरियो ने प्रचार पर भी खूब खर्चा किया है| वहीं पल्स का ज्यादा प्रचार नहीं किया गया है और माउथ पब्लिसिटी से ही इस टॉफी ने धूम मचायी हुई है|




बता दें कि भारत का कैंडी बाजार करीब 6600 करोड़ रुपए का है और हर साल करीब 12 प्रतिशत की दर से बढ़ रहा है| फिलहाल भारतीय बाजार में ‘पार्ले’ और ‘ऐल्पेन्लिबे’ का दबदबा है| दोनों ही कंपनियां पिछले 10 सालों से बाजार में हैं| ऐसे में सिर्फ दो साल में पल्स का तीसरे स्थान पर पहुंच जाना काबिले तारीफ बात है| पल्स को रजनीगंधा बनाने वाली कंपनी डीएस ग्रुप (धर्मपाल और सत्यपाल) ने बनाया है|