1. हिन्दी समाचार
  2. पुलवामा अटैक: CRPF की आंतरिक रिपोर्ट में मानी खामियां, मोदी सरकार ने किया था इंकार

पुलवामा अटैक: CRPF की आंतरिक रिपोर्ट में मानी खामियां, मोदी सरकार ने किया था इंकार

Pulwama Terror Attack Crpf Internal Reports Cites Intelligence Failure

By रवि तिवारी 
Updated Date

नई दिल्ली। जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में 14 फरवरी को सीआरपीएफ के काफिले पर हुए आतंकी हमले को लेकर बड़ा खुलासा हुआ है। CRPF की आंतरिक रिपोर्ट के मुताबिक, यह हमला खुफिया एजेंसियों की विफलता थी। इस हमले में सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हो गए थे। यह रिपोर्ट गृह मंत्रालय के बयान के विपरीत है। गृह मंत्रालय के मुताबिक पुलवामा आतंकी हमला खुफिया एजेंसी की विफलता नहीं थी।

पढ़ें :- यूपीः विधान परिषद चुनाव में BJP के दस और SP के दो प्रत्याशी निर्विरोध निर्वाचित

जांच रिपोर्ट बताती है कि आईईडी खतरे के संबंध में एक सामान्य चेतावनी थी, लेकिन कार से आत्मघाती हमले को लेकर कोई विशेष खतरा नहीं था. रिपोर्ट में कहा गया है कि घाटी में किसी भी खुफिया एजेंसी द्वारा इस तरह के इनपुट को साझा नहीं किया गया था।

CRPF ने किया इनकार

हालांकि सीआरपीएफ ने एक बयान जारी कर कहा है कि ऐसा कोई भी निष्कर्ष सीआरपीएफ की रिपोर्ट में नहीं आया है। सीआरपीएफ ने अपने बयान में कहा, “प्रिंट और इलेक्ट्रानिक मीडिया में पुलवामा की घटना से जुड़े सीआरपीएफ की आतंरिक रिपोर्ट चल रही है। यह स्पष्ट किया जाता है कि इस रिपोर्ट के आधार पर जो निष्कर्ष निकाला गया है वैसी भी कोई भी बात सीआरपीएफ की रिपोर्ट में नहीं है।”

गृह मंत्रालय ने क्या कहा था

पढ़ें :- पुजार को मैच के दौरान लगी चोट तो उनकी दो वर्षीय बेटी ने दिल को छूने वाली कही ये बात...

गौर करने वाली बात यह है कि सीआरपीएफ की यह रिपोर्ट गृह मंत्रालय के बयान के ठीक उलट है। पुलवामा हमले के बाद मोदी सरकार पर सवाल खड़े किए गए थे, और खुफिया एंजिसोंयों की नाकामी की बात सामने आई थी। इसके बाद गृह मंत्रालय ने इन आरोपों को खारिज करते हुए कहा था कि पुलवामा आतंकी हमला खुफिया एजेंसियों की विफलता नहीं थी।

गौरतलब है कि इसी साल 14 फरवरी को पुलवामा में सीआरपीएफ के काफिले पर आत्मघाती हमला हुआ था। जम्मू के ट्रांजिट शिविर से सीआरपीएफ के 78 बसों का काफिला श्रीनगर जा रहा था। इन बसों में ढाई हजार से ज्यादा जवान सवार थे। सीआरपीएफ का काफिला पुलवामा श्रीनगर-जम्मू राजमार्ग से गुजर रहा था, इसी दौरान आत्मघाती हमलवार ने अपनी विस्फोटकों से लदी एसयूवी कार से सीधे सीआरपीएफ की बस में टक्कर मार दी थी। हमले में 40 जवान शहीद हो गए थे। जैश-ए-मोहम्मद ने इस हमले की जिम्मेदारी ली थी।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...