इस बैंक के ग्राहक नहीं निकाल सकेंगे 1,000 रुपये से ज़्यादा रकम, RBI ने लगाई पाबंदी

rbi
इस बैंक के ग्राहक नहीं निकाल सकेंगे 1,000 रुपये से ज़्यादा रकम, RBI ने लगाई पाबंदी

मुंबई। पंजाब एंड महाराष्ट्र कॉपरेटिव बैंक (Punjab and Maharashtra Cooperative Bank, PMC Bank) के ग्राहक अब छह महीने में सिर्फ एक हजार रुपये ही अपने खाते से निकाल सकते हैं। जिसकी वजह से बैंक के हर ब्रांच में भीड़ लगी है. RBI का ये प्रतिबंध 6 महीने तक जारी रहेगा। इसके तहत बैंक न तो लोन दे सकता है और न ही कोई निवेश कर सकता है।

Punjab And Maharashtra Cooperative Bank Pmc Bank Coustmers Can Be Withdrawn 1000 Rupees In 6 Months :

विस्तृत रूप में बताते चले कि भारतीय रिज़र्व बैंक (RBI) ने मंगलवार को मुंबई स्थित पंजाब एंड महाराष्ट्र कोऑपरेटिव (PMC) बैंक लिमिटेड पर किसी भी प्रकार के व्यापारिक लेन-देन पर रोक लगा दी है, जिससे बैंक के निवेशकों और शहर में व्यापारी वर्ग को बड़ा झटका लगा है। आरबीआई ने यह कार्रवाई बैंकिग रेलुगेशन एक्ट, 1949 के सेक्‍शन 35ए के तहत की है।

रिज़र्व बैंक ऑफ इंडिया के मुख्य महाप्रबंधक योगेश दयाल ने कहा कि RBI के निर्देशों के अनुसार, पंजाब एंड महाराष्ट्र कोऑपरेटिव बैंक (PMC Bank) के जमाकर्ता बैंक में अपने सेविंग, करंट या अन्य किसी भी तरह के खाते में से 1,000 रुपये से ज्यादा रुपये नहीं निकाल सकते हैं।

क्‍या लाइसेंस भी हुआ कैंसल?

आरबीआई के इस कठोर फैसले के बाद यह भी कयास लगाए जा रहे हैं कि पंजाब एंड महाराष्ट्र कोऑपरेटिव बैंक का लाइसेंस भी कैंसल कर दिया गया है। हालांकि आरबीआई की ओर से इस संबंध में स्थिति स्‍पष्‍ट की गई है। केंद्रीय बैंक की ओर से जारी बयान में कहा गया कि इन पाबंदियों से यह नहीं समझा जाना चाहिए कि आरबीआई ने पीएमसी बैंक का बैंकिंग लाइसेंस कैंसल कर दिया है। आरबीआई ने कहा कि बैंक अगले नोटिस या दिशा-निर्देश तक पाबंदियों के साथ कारोबार कर सकता है।

PMC बैंक पर RBI की अग्रिम मंजूरी के बिना ऋण और अग्रिम धनराशि देने या रीन्यू करने, किसी भी प्रकार का निवेश करने, फ्रेश डिपोजिट स्वीकार करने आदि पर भी रोक लगा दी गई है।

मुंबई। पंजाब एंड महाराष्ट्र कॉपरेटिव बैंक (Punjab and Maharashtra Cooperative Bank, PMC Bank) के ग्राहक अब छह महीने में सिर्फ एक हजार रुपये ही अपने खाते से निकाल सकते हैं। जिसकी वजह से बैंक के हर ब्रांच में भीड़ लगी है. RBI का ये प्रतिबंध 6 महीने तक जारी रहेगा। इसके तहत बैंक न तो लोन दे सकता है और न ही कोई निवेश कर सकता है। विस्तृत रूप में बताते चले कि भारतीय रिज़र्व बैंक (RBI) ने मंगलवार को मुंबई स्थित पंजाब एंड महाराष्ट्र कोऑपरेटिव (PMC) बैंक लिमिटेड पर किसी भी प्रकार के व्यापारिक लेन-देन पर रोक लगा दी है, जिससे बैंक के निवेशकों और शहर में व्यापारी वर्ग को बड़ा झटका लगा है। आरबीआई ने यह कार्रवाई बैंकिग रेलुगेशन एक्ट, 1949 के सेक्‍शन 35ए के तहत की है। रिज़र्व बैंक ऑफ इंडिया के मुख्य महाप्रबंधक योगेश दयाल ने कहा कि RBI के निर्देशों के अनुसार, पंजाब एंड महाराष्ट्र कोऑपरेटिव बैंक (PMC Bank) के जमाकर्ता बैंक में अपने सेविंग, करंट या अन्य किसी भी तरह के खाते में से 1,000 रुपये से ज्यादा रुपये नहीं निकाल सकते हैं। क्‍या लाइसेंस भी हुआ कैंसल? आरबीआई के इस कठोर फैसले के बाद यह भी कयास लगाए जा रहे हैं कि पंजाब एंड महाराष्ट्र कोऑपरेटिव बैंक का लाइसेंस भी कैंसल कर दिया गया है। हालांकि आरबीआई की ओर से इस संबंध में स्थिति स्‍पष्‍ट की गई है। केंद्रीय बैंक की ओर से जारी बयान में कहा गया कि इन पाबंदियों से यह नहीं समझा जाना चाहिए कि आरबीआई ने पीएमसी बैंक का बैंकिंग लाइसेंस कैंसल कर दिया है। आरबीआई ने कहा कि बैंक अगले नोटिस या दिशा-निर्देश तक पाबंदियों के साथ कारोबार कर सकता है। PMC बैंक पर RBI की अग्रिम मंजूरी के बिना ऋण और अग्रिम धनराशि देने या रीन्यू करने, किसी भी प्रकार का निवेश करने, फ्रेश डिपोजिट स्वीकार करने आदि पर भी रोक लगा दी गई है।