1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तराखंड
  3. पंजाब के नाराज विधायकों को हरीश रावत की दो टूक, बोले- कैप्टन के नेतृत्व में ही लड़ा जाएगा चुनाव

पंजाब के नाराज विधायकों को हरीश रावत की दो टूक, बोले- कैप्टन के नेतृत्व में ही लड़ा जाएगा चुनाव

पंजाब के कैबिनेट मंत्री तृप्त राजिंदर सिंह बाजवा (Punjab cabinet minister Tript Rajinder Singh Bajwa) और कुछ अन्य नेताओं ने खुले तौर पर कैप्टन को हटाए जाने की मांग कर दी है। इसके बाद एक बार फिर पंजाब की राजनीति में भूचाल (Earthquake in Punjab Politics) आ गया है। बीते मंगलवार को उठे इस सियासी तूफान (Political Storm) के बाद अब पंजाब के कुछ विधायकों ने राज्य प्रभारी हरीश रावत (In-charge Harish Rawat) ने उत्तराखंड की राजधानी देहरादून (Dehradun) का रुख किया है।

By संतोष सिंह 
Updated Date

देहरादून। पंजाब के कैबिनेट मंत्री तृप्त राजिंदर सिंह बाजवा (Punjab cabinet minister Tript Rajinder Singh Bajwa) और कुछ अन्य नेताओं ने खुले तौर पर कैप्टन को हटाए जाने की मांग कर दी है। इसके बाद एक बार फिर पंजाब की राजनीति में भूचाल (Earthquake in Punjab Politics) आ गया है। बीते मंगलवार को उठे इस सियासी तूफान (Political Storm) के बाद अब पंजाब के कुछ विधायकों ने राज्य प्रभारी हरीश रावत (In-charge Harish Rawat) ने उत्तराखंड (Uttarakhand) की राजधानी देहरादून (Dehradun) का रुख किया है।

पढ़ें :- क्रिकेट के बाद कांग्रेस के कैप्टन का भी सिरदर्द बने सिद्धू, अचानक फैसलों से हर बार टीम को पहुंचाया नुकसान
Jai Ho India App Panchang

बता दें कि पंजाब सरकार (Punjab Government) के चार मंत्री तृप्त राजिंदर सिंह बाजवा, सुखविंदर सिंह रंधावा, सुख सकारिया व चरनजीत चन्नी और तीन विधायक कुलवीर जीरा, बरीन्द्रजीत पहाड़ा व सुरिंदर धीमान देहरादून के एक होटल में पहुंचे हैं। इसी होटल में हो रही बैठक में हरीश रावत भी बैठक में पहुंचे हैं। वहीं बैठक में जाने से पहले हरीश रावत (Harish Rawat)ने मीडिया से कहा कि कैप्टन अमरिंदर के नेतृत्व में ही 2022 का चुनाव लड़ा जाएगा। अब देखना ये होगा कि इस बैठक के बाद क्या हल निकलेगा?

इस मामले पर हरीश रावत (Harish Rawat) ने कहा कि जब हम पंजाब कांग्रेस कमेटी (Punjab Congress Committee) में बदलाव लाए, तो हमें बाद में सामने आ सकने वाले संभावित मुद्दों के बारे में विचार आया था। सोनिया गांधी और राहुल गांधी पर सभी को भरोसा है। हम इसे सुलझाने की कोशिश करेंगे।

बता दें कि इससे पहले नवजोत सिंह सिद्धू के पंजाब कांग्रेस का प्रधान बनने के बाद यह माना जा रहा था कि पार्टी के सभी अंदरूनी विवाद शांत हो जाएंगे, लेकिन ऐसा नहीं हो सका। कैप्टन अमरिंदर सिंह और सिद्धू खेमे के कैबिनेट मंत्री तृप्त राजिंदर सिंह बाजवा ने मंगलवार को अपने आवास पर कैप्टन अमरिंदर सिंह (Capt Amarinder Singh) विरोधी कांग्रेस नेताओं की बैठक बुलाई थी। इस दौरान खुले तौर पर कैप्टन को हटाए जाने की मांग उठाई गई थी। जिसके बाद सभी ने प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू (State Congress President Navjot Singh Sidhu) से मुलाकात की थी।

पार्टी में जारी मौजूदा हालात के बारे में पार्टी हाईकमान को जानकारी देंगे सिद्धू

पढ़ें :- कैप्टन की गुगली के आगे सिद्धू हुए बोल्ड, नहीं मार पाए सेंचुरी

नवजोत सिंह सिद्धू (Navjot Singh Sidhu) ने तृप्त बाजवा और बाकी विधायकों से बात करने के बाद कहा था कि वे पार्टी में जारी मौजूदा हालात के बारे में पार्टी हाईकमान को जानकारी देंगे। वहीं पंजाब प्रभारी हरीश रावत (Punjab in-charge Harish Rawat) ने बताया कि कैप्टन और सिद्धू के बीच अब कोई विवाद नहीं है। पार्टी में जो भी हालात अब पैदा हुए हैं, उसके बारे में वे सारी जानकारी हाईकमान (High Command) को देंगे। रावत ने बताया कि पंजाब कांग्रेस (Punjab Congress) के कुछ विधायक उनसे मिलने देहरादून (Dehradun) पहुंच रहे हैं। विधायक जो कुछ बताएंगे, उसकी पूरी सूचना हाईकमान तक पहुंचाई जाएगी।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...