1. हिन्दी समाचार
  2. दिल्ली
  3. Punjab : मुख्यमंत्री भगवंत मान ने स्वास्थ्य मंत्री विजय सिंगला को कैबिनेट से हटाया, लगा ये गंभीर आरोप

Punjab : मुख्यमंत्री भगवंत मान ने स्वास्थ्य मंत्री विजय सिंगला को कैबिनेट से हटाया, लगा ये गंभीर आरोप

Punjab: पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान (Chief Minister Bhagwant Mann) ने स्वास्थ्य मंत्री विजय सिंगला (Health Minister Vijay Singla ) को अपनी कैबिनेट से हटा दिया है। मिली जानकारी के अनुसार उन पर रिश्वत लेने के आरोप लगे हैं, जिसके बाद उन्हें मंत्रिमंडल से बाहर का रास्ता दिखाया गया है।

By संतोष सिंह 
Updated Date

Punjab : पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान (Chief Minister Bhagwant Mann) ने स्वास्थ्य मंत्री विजय सिंगला (Health Minister Vijay Singla ) को अपनी कैबिनेट से हटा दिया है। मिली जानकारी के अनुसार उन पर रिश्वत लेने के आरोप लगे हैं, जिसके बाद उन्हें मंत्रिमंडल से बाहर का रास्ता दिखाया गया है।

पढ़ें :- Weather Update : कड़ाके की ठंड से बचने को रहें तैयार, उत्तर भारत में -4 डिग्री तक गिर सकता है पारा

सीएम मान ने उनके खिलाफ पुलिस को मामला दर्ज करने के निर्देश दिए हैं। करीब 10 वर्ष पहले डॉ. विजय सिंगला (Dr. Vijay Singla)  आम आदमी पार्टी (AAP)में शामिल हुए थे। वह लंबे समय से सिविल अस्पताल मानसा रोड (Civil Hospital Mansa Road) पर सिंगला डेंटल क्लीनिक (Singla Dental Clinic) चला रहे हैं। उनकी पत्नी अनीता सिंगला भी बीएएमएस हैं और बेटा चेतन सिंगला एमडी की पढ़ाई कर रहे हैं।

इस बार के पंजाब विधानसभा चुनाव (Punjab Assembly Elections) में डॉ. विजय सिंगला (Dr. Vijay Singla) ने मानसा से प्रसिद्ध गायक और कांग्रेस उम्मीदवार सिद्धू मूसेवाला को 60,000 से अधिक वोटों से हराया था।

जानें मुख्यमंत्री ने इस कार्रवाई को लेकर क्या कहा?

रिपोर्ट्स के मुताबिक विजय सिंगला ने ठेके के आवंटन में कॉन्ट्रैक्टर से 1 फीसदी कमीशन की मांग रखी थी। उनके खिलाफ पक्के सबूत मिलने के बाद मुख्यमंत्री भगवंत मान ने उन्हें अपने मंत्रिमंडल से बर्खास्त करने का फैसला लिया। अपने मंत्री के खिलाफ कार्रवाई करते हुए मुख्यमंत्री मान ने कहा कि अरविंद केजरीवाल ने मुझे कहा था कि मैं एक पैसे की रिश्तखोरी, बेईमानी बर्दाश्त नहीं करूं। मैंने उन्हें वचन दिया था ऐसा नहीं होगा। हम आंदोलन से निकले हुए लोग हैं और वह आंदोलन भ्रष्टाचार के खिलाफ था।

पढ़ें :- पंजाब में PCS अधिकारी सामूहिक अवकाश पर गए, सीएम ने दिया अल्टीमेटम, 2 बजे तक काम पर लौटे नहीं तो होंगे सस्पेंड

मैं चाहता तो दबा सकता था केस, लेकिन होता जनता से धोखा : मान

भगवंत मान ने आगे कहा कि मेरे ध्यान में एक केस आया। इस केस में मेरी सरकार का मंत्री शामिल था। एक ठेके में मेरी सरकार का मंत्री 1 फीसदी कमीशन मांग रहा था। इस केस का सिर्फ मुझे पता था। इस केस को दबाया जा सकता था, लेकिन ऐसा करना पंजाब की जनता के साथ धोखा होता। इसलिए मैं उस मंत्री के खिलाफ एक्शन ले रहा हूं। तुरंत एक्शन लिया जा रहा है। मंत्री का नाम विजय सिंगला है और उनके खिलाफ पुलिस को केस दर्ज करने का निर्देश दे दिया गया है। सीएम मान ने कहा कि यह सुनिश्चित करने के लिए विजय सिंगला पर कार्रवाई की गई है कि अन्य मंत्री भ्रष्ट आचरण से मुक्त रहें।

डॉ. विजय सिंगला ने आरोपों को बताया निराधार

उधर विजय सिंगला ने इन आरोपों को निराधार बताया है। इस घटनाक्रम के बाद पंजाब के विपक्षी दल सक्रिय हो गए हैं। उन्होंने आम आदमी पार्टी की सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। बता दें कि दिल्ली के मुख्यमंत्री और आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक अरिविंद कजरीवाल ने पंजाब को एक भ्रष्टाचार मुक्त सरकार देने का वादा किया था। उन्होंने चुनाव प्रचार के दौरान ऐलान किया था कि यदि आम आदमी पार्टी की सरकार बनती है, तो पंजाब को भ्रष्टाचार मुक्त शासन मिलेगा। अरविंद केजरीवाल ने कहा था कि उनका कोई भी विधायक या मंत्री भ्रष्टाचार में संलिप्त पाया जाएगा, तो उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।

पढ़ें :- BSF जवानों को मिली बड़ी सफलता, AK-47 राइफल समेत बड़ी मात्रा में हथियार बरामद
इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...