पुराने नोट बदलने को लेकर कोई राहत मिलेगी तो सबको मिलेगी: सुप्रीम कोर्ट

Purane Note Bandalne Ko Lekar Koi Rahat Milegi To Sabko Milegi

नई दिल्ली: उच्चतम न्यायालय ने मंगलवार को कहा कि अगर वह 500 और 1000 रुपए के अमान्य नोटों को बदलने के मामले में कोई राहत देने का फैसला करता है तो वह व्यक्तिगत मामलों के लिए नहीं बल्कि आम लोगों के लिए होगा। प्रधान न्यायाधीश न्यायमूर्ति जे एस खेहड़ व न्यायमूर्ति एस के कौल की पीठ ने कहा कि यदि (अमान्य नोटों को जमा करने की अवधि विस्तार) सुविधा होगी तो आप सभी पर (याचिकाकर्ता और अन्य) विचार किया जाएगा।




कोर्ट सुधा मिश्रा नाम की एक महिला की ओर से दाखिल याचिका सहित कई अन्य अर्जियों पर सुनवाई कर रहा था जिनमें 500 व 1000 रुपए के चलन से बाहर हो चुके नोटों को बदलवाने के लिए 31 मार्च तक का समय आम लोगों को नहीं देने के केंद्र के फैसले को चुनौती दी गई है।

आम लोगों के लिए यह अवधि पिछले साल 30 दिसंबर को ही खत्म हो गई जबकि पीएम नरेंद्र मोदी ने वादा किया था कि आम लोग 31 मार्च तक पुराने नोट बदलवा सकेंगे। बहरहाल कोर्ट ने इन याचिकाओं पर सुनवाई ग्रीष्मकालीन अवकाश के बाद करने का फैसला किया है।

नई दिल्ली: उच्चतम न्यायालय ने मंगलवार को कहा कि अगर वह 500 और 1000 रुपए के अमान्य नोटों को बदलने के मामले में कोई राहत देने का फैसला करता है तो वह व्यक्तिगत मामलों के लिए नहीं बल्कि आम लोगों के लिए होगा। प्रधान न्यायाधीश न्यायमूर्ति जे एस खेहड़ व न्यायमूर्ति एस के कौल की पीठ ने कहा कि यदि (अमान्य नोटों को जमा करने की अवधि विस्तार) सुविधा होगी तो आप सभी पर (याचिकाकर्ता और अन्य) विचार किया जाएगा।…