पूर्वांचल की हाई प्रोफाइल सीटों पर किसकी हार किसकी जीत

purwanchal-chunaw
पूर्वांचल की हाई प्रोफाइल सीटों पर किसकी हार किसकी जीत

लखनऊ। इस बार के संसदीय चुनाव में पूर्वांचल में कुछ सीटें हाई प्रोफ़ाइल मानी जा रही हैं। जिनमें वाराणसी, आजमगढ़, गोरखपुर, प्रयागराज, गाजीपुर, चंदौली प्रमुख हैं। वाराणसी से प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी दोबारा लड़ रहे हैं, तो वहीं चंदौली से सांसद एवं बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष महेन्द्र नाथ पांडेय और गाजीपुर से सांसद एवं मंत्री मनोज सिन्हा की प्रतिष्ठा दांव पर लगी है।

Purwanchal Ka Loksabha Chunaw :

जहां वाराणसी सीट को लेकर विपक्ष में काफी माथापच्ची है वहीं गाजीपुर से महागठबंधन की ओर से बाहुबली मुख्तार अंसारी के भाई अफजाल अंसारी ताल ठोक रहे हैं। आजमगढ़ सीट से भोजपुरी स्टार निरहुआ को बीजेपी ने प्रत्याशी बनाकर अखिलेश यादव की मुश्किलें बढ़ा दी हैं।

बात अगर गोरखपुर सीट की करें तो जहां बीजेपी प्रत्याशी व सिने स्टार रवि किशन अपनी जीत के प्रति आश्वस्त दिख रहे हैं तथा ऐतिहासिक जीत का दावा कर रहे हैं। वहीं महागठबंधन ने निषाद बाहुल्य क्षेत्र होने के कारण राम भुवल निषाद को टिकट देकर बीजेपी को कड़ा टक्कर देने का प्रयास किया है।

रिपोर्ट: रोशन मिश्रा

लखनऊ। इस बार के संसदीय चुनाव में पूर्वांचल में कुछ सीटें हाई प्रोफ़ाइल मानी जा रही हैं। जिनमें वाराणसी, आजमगढ़, गोरखपुर, प्रयागराज, गाजीपुर, चंदौली प्रमुख हैं। वाराणसी से प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी दोबारा लड़ रहे हैं, तो वहीं चंदौली से सांसद एवं बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष महेन्द्र नाथ पांडेय और गाजीपुर से सांसद एवं मंत्री मनोज सिन्हा की प्रतिष्ठा दांव पर लगी है। जहां वाराणसी सीट को लेकर विपक्ष में काफी माथापच्ची है वहीं गाजीपुर से महागठबंधन की ओर से बाहुबली मुख्तार अंसारी के भाई अफजाल अंसारी ताल ठोक रहे हैं। आजमगढ़ सीट से भोजपुरी स्टार निरहुआ को बीजेपी ने प्रत्याशी बनाकर अखिलेश यादव की मुश्किलें बढ़ा दी हैं। बात अगर गोरखपुर सीट की करें तो जहां बीजेपी प्रत्याशी व सिने स्टार रवि किशन अपनी जीत के प्रति आश्वस्त दिख रहे हैं तथा ऐतिहासिक जीत का दावा कर रहे हैं। वहीं महागठबंधन ने निषाद बाहुल्य क्षेत्र होने के कारण राम भुवल निषाद को टिकट देकर बीजेपी को कड़ा टक्कर देने का प्रयास किया है।

रिपोर्ट: रोशन मिश्रा