पी वी सिंधू ने रचा इतिहास, जापान की नोजोमी ओकुहारा को हराकर पहली बार जीता गोल्ड मेडल

pv sindhu
पी वी सिंधू ने रचा इतिहास, जापान की नोजोमी ओकुहारा को हराकर पहली बार जीता गोल्ड मेडल

नई दिल्ली। ओलम्पिक रजत पदक विजेता और भारतीय बैडमिंटन स्टार पी.वी. सिंधु ने रविवार को इतिहास रच दिया। पीवी सिंधू ने विश्व चैम्पियनशिप-2019 के फाइनल में जापान की नोजोमी ओकुहारा को हराकर चैम्पियनशिप में पहली बार स्वर्ण पदक जीत लिया। ओकुहारा दुनिया की चौथे नंबर की खिलाड़ी है।

Pv Sindhu Created History Won Gold Medal For The First Time By Defeating Japans Nozomi Okuhara :

बता दें कि वर्ल्ड रैंकिंग में पांचवें पायदान पर काबिज सिंधु थी। उन्होने ओकुहारा को सीधे गेमों में 21-7, 21-7 से पराजित किया। उन दोनों के बीच ये रोमांचक मुकाबल 37 मिनट तक चला। इस जीत के साथ ही सिंधु ने ओकुहारा से खिलाफ अपना करियर रिकॉर्ड 9-7 का कर लिया है।

गौरतलब हो कि वर्ष 2017 और 2018 में रजत तथा 2013 व 2014 में कांस्य पदक जीत चुकीं सिंधु ने पहले गेम में अच्छी शुरुआत की और 5-1 की बढ़त बना ली। जिसके बाद वो 12-2 से आगे हो गईं। जिसके बाद उन्होने पीछे मुड़कर नहीं देखा और 16-2 की लीड लेने के बाद 21-7 से पहला गेम जीत लिया। भारतीय खिलाड़ी ने 16 मिनट में पहला गेम अपने नाम किया।

नई दिल्ली। ओलम्पिक रजत पदक विजेता और भारतीय बैडमिंटन स्टार पी.वी. सिंधु ने रविवार को इतिहास रच दिया। पीवी सिंधू ने विश्व चैम्पियनशिप-2019 के फाइनल में जापान की नोजोमी ओकुहारा को हराकर चैम्पियनशिप में पहली बार स्वर्ण पदक जीत लिया। ओकुहारा दुनिया की चौथे नंबर की खिलाड़ी है। बता दें कि वर्ल्ड रैंकिंग में पांचवें पायदान पर काबिज सिंधु थी। उन्होने ओकुहारा को सीधे गेमों में 21-7, 21-7 से पराजित किया। उन दोनों के बीच ये रोमांचक मुकाबल 37 मिनट तक चला। इस जीत के साथ ही सिंधु ने ओकुहारा से खिलाफ अपना करियर रिकॉर्ड 9-7 का कर लिया है। गौरतलब हो कि वर्ष 2017 और 2018 में रजत तथा 2013 व 2014 में कांस्य पदक जीत चुकीं सिंधु ने पहले गेम में अच्छी शुरुआत की और 5-1 की बढ़त बना ली। जिसके बाद वो 12-2 से आगे हो गईं। जिसके बाद उन्होने पीछे मुड़कर नहीं देखा और 16-2 की लीड लेने के बाद 21-7 से पहला गेम जीत लिया। भारतीय खिलाड़ी ने 16 मिनट में पहला गेम अपने नाम किया।