दिल का दौरा पड़ने से हुआ सूफी गायक प्यारे लाल वडाली का निधन

प्यारे लाल वडाली का निधन , प्यारे लाल वडाली
दिल का दौरा पड़ने से हुई सूफी गायक प्यारे लाल वडाली का निधन

अमृतसर: पंजाबी सूफी संगीत से मशहूर होने वाले वाले प्यारे लाल वडाली का दिल का दौरा पड़ने से शुक्रवार को अमृतसर में निधन हो गया। उनकी उम्र 75 साल थी वे और उनके भाई वडाली ब्रदर्स के नाम से मशहूर थे। दोनों भाइयों ने प्यारे लाल वडाले और पूरन चंद वडाली के साथ मिलकर जिसमें से ‘तू माने या न माने’ और तनु वेड्स मनु का ‘रंगरेज मेरे’ जैसे कई लोकप्रिय गाने गाए।

प्यारे लाल वडाली को सीने में दर्द की शिकायत के बाद सोमवार को अस्पताल में भर्ती कराया गया था। उनकी हालत बिगड़ने के बाद उन्हें वेंटिलेटर पर रखा गया लेकिन उनकी हालत में सुधार नहीं हुआ और शुक्रवार सुबह 4 बजे उनका निधन हो गया। निधन के बाद उनके पार्थिव शरीर को पैतृक गांव ले जाया गया है जहां उनके पार्थिव शरीर को अंतिम दर्शन के लिए रखा गया है।उनके परिवार में उनकी पत्नी, दो बेटें और तीन बेटियां हैं। वडाली और उनके भाई को राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भी कई पुरस्कारों से सम्मानित किया गया है।

{ यह भी पढ़ें:- जम्मू-कश्मीर में आतंकियों के खिलाफ बड़े ऑपरेशन की तैयारी, NSG कमांडो तैनात }

गायिका ऋचा शर्मा ने वडाली के निधन की खबर को संगीत की दुनिया के लिए बेहद दुखद दिन बताया है। उन्होंने कहा, ‘संगीत की दुनिया और प्रशंसकों के लिए एक बुरी खबर!! प्यारे लाल वडाली हमारे बीच नहीं रहें। भगवान उनकी आत्मा को शांति दे।’

अमृतसर: पंजाबी सूफी संगीत से मशहूर होने वाले वाले प्यारे लाल वडाली का दिल का दौरा पड़ने से शुक्रवार को अमृतसर में निधन हो गया। उनकी उम्र 75 साल थी वे और उनके भाई वडाली ब्रदर्स के नाम से मशहूर थे। दोनों भाइयों ने प्यारे लाल वडाले और पूरन चंद वडाली के साथ मिलकर जिसमें से 'तू माने या न माने' और तनु वेड्स मनु का 'रंगरेज मेरे' जैसे कई लोकप्रिय गाने गाए। प्यारे लाल वडाली को सीने में दर्द…
Loading...