अजीत डोभाल की नियुक्ति पर यशवंत सिन्हा ने उठाए सवाल, 74 उम्र पार पर कैसे दिया कैबिनेट मंत्री का दर्जा

ajeet dobhal cabinet
अजीत डोभाल की नियुक्ति पर यशवंत सिन्हा ने उठाए सवाल, 74 उम्र पार पर कैसे दिया कैबिनेट मंत्री का दर्जा

नई दिल्ली। राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल को दोबारा एनएसए बनाने के साथ ही कैबिनेट मंत्री का दर्जा दिए जाने को लेकर ​लोगों ने उंगलिया उठाना शुरु कर दिया है। बता दें कि इस नियुक्ति पर भारतीय जनता पार्टी के बागी और पूर्व केंद्रीय मंत्री यशवंत सिन्हा ने सवाल खड़े किए हैं। उन्होंने ट्वीट कर कहा कि अजीत डोभाल जब 74 साल की उम्र पार कर चुके हैं तो फिर उन्हे कैबिनेट मंत्री का दर्जा कैसे दे दिया गया है।

Questions Ajit Doval Imposition As Nsa And Cabinet Rank Of Yashwant Sinha :

बता दें कि यशवंत सिन्हा ने ये ट्वीट मंगलवार सुबह किया कि अजीत डोभाल 74 साल के हो गए हैं। फिर उन्हें पांच साल के लिए राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार बना दिया गया है इतना ही नहीं अब उन्हें कैबिनेट मंत्री का दर्जा भी दिया गया है। उन्होने कहा कि क्या जो नियम सांसदों और मंत्रियों के लिए लागू होता है वो कैबिनेट रैंक के लिए लागू नहीं होता है।

उन्होने आगे कहा कि मैं हर सर्वे का सरताज हूं। इस दौरान उन्होंने पूर्व लोकसभा स्पीकर सुमित्रा महाजन को लेकर भी लिखा कि मुझे उन पर तरस आता है। बता दें कि यशवंत सिन्हा ने बीजेपी के उस नियम पर सवाल खड़े कर दिए हैं जिसमें 75+ के नेताओं को टिकट ना देने की बात कही गई थी। इसी के तहत इस बार बीजेपी ने लालकृष्ण आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी और सुमित्रा महाजन जैसे वरिष्ठ नेताओं का टिकट काट दिया था।

नई दिल्ली। राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल को दोबारा एनएसए बनाने के साथ ही कैबिनेट मंत्री का दर्जा दिए जाने को लेकर ​लोगों ने उंगलिया उठाना शुरु कर दिया है। बता दें कि इस नियुक्ति पर भारतीय जनता पार्टी के बागी और पूर्व केंद्रीय मंत्री यशवंत सिन्हा ने सवाल खड़े किए हैं। उन्होंने ट्वीट कर कहा कि अजीत डोभाल जब 74 साल की उम्र पार कर चुके हैं तो फिर उन्हे कैबिनेट मंत्री का दर्जा कैसे दे दिया गया है। बता दें कि यशवंत सिन्हा ने ये ट्वीट मंगलवार सुबह किया कि अजीत डोभाल 74 साल के हो गए हैं। फिर उन्हें पांच साल के लिए राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार बना दिया गया है इतना ही नहीं अब उन्हें कैबिनेट मंत्री का दर्जा भी दिया गया है। उन्होने कहा कि क्या जो नियम सांसदों और मंत्रियों के लिए लागू होता है वो कैबिनेट रैंक के लिए लागू नहीं होता है। उन्होने आगे कहा कि मैं हर सर्वे का सरताज हूं। इस दौरान उन्होंने पूर्व लोकसभा स्पीकर सुमित्रा महाजन को लेकर भी लिखा कि मुझे उन पर तरस आता है। बता दें कि यशवंत सिन्हा ने बीजेपी के उस नियम पर सवाल खड़े कर दिए हैं जिसमें 75+ के नेताओं को टिकट ना देने की बात कही गई थी। इसी के तहत इस बार बीजेपी ने लालकृष्ण आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी और सुमित्रा महाजन जैसे वरिष्ठ नेताओं का टिकट काट दिया था।