राम-रहीम के बाद स्वयंभू देवी ‘राधे मां’ की मुश्किलें बढ़ी, कोर्ट पहुंचा मामला

चंडीगढ़। साध्वी से बलात्कार के आरोपी डेरा सच्चा सौदा प्रमुख राम-रहीम के बाद अब खुद को देवी का अवतार बताने वाली ‘राधे मां’ की मुश्किलें बढ़ने वाली हैं। पंजाब में राधे मां पर मामला दर्ज कराने को लेकर हाईकोर्ट में अपील की गयी है। इस मामले में कोर्ट ने पुलिस को फटकार लगाते हुए एफ़आईआर ना दर्ज करने का कारण भी पूछा है।
मिली जानकारी के मुताबिक पंजाब के फगवाड़ा निवासी सुरेंद्र मित्तल ने पंजाब-हरियाणा हाईकोर्ट में याचिका दाखिल कर राधे मां के खिलाफ मामला दर्ज कराने की अपील की थी। इस मामले पर सुनवाई करते हुए हाईकोर्ट ने कपूरथला पुलिस को फटकार लगाई है। हाईकोर्ट ने पुलिस से पूछा है कि अब तक इस मामले में FIR क्यों नहीं दर्ज की गई।
बता दें कि सुरेंद्र मित्तल ने कुछ महीने पंजाब पुलिस को राधे मां के खिलाफ शिकायत दी थी कि राधे मां उसको फोन करके परेशान करती हैं। साथ ही उसे धमकी भी दी जा रही है।
हाईकोर्ट ने 13 नवंबर से पहले पंजाब पुलिस को जवाब दाखिल करने के लिये कहा है। पुलिस को बताना होगा कि इस मामले में आपराधिक मामला बनता है या नहीं।

पहले भी लगा चुके हैं आरोप-
राधे मां पर पहले भी कई आरोप लग चुके हैं। राधे मां की भाभी बलविंदर कौर की हत्या के मामले में उनके भाई और पिता को सजा भी हो चुकी है। बलविंदर कौर के भाई जगतार सिंह ने गांव नानोनंगल में पिछले साल आरोप लगाया था कि उनकी बहन की हत्या में राधे मां भी शामिल थी। जगतार ने कहा था कि राधे मां के दो भाई और पिता ने उनकी बहन की हत्या की थी, जिन्होंने 10-10 साल की सजा काटी।

{ यह भी पढ़ें:- पंजाब के मोहाली में वरिष्ठ पत्रकार और मां की हत्या }