चीन से तनाव के बीच जल्द आने वाले हैं राफेल लड़ाकू विमान, इस दिन आने की है उम्मीद

rafale
चीन से तनाव के बीच जल्द आने वाले हैं राफेल लड़ाकू विमान, इस दिन आने की है उम्मीद

नई दिल्ली। भारत-चीन के बीच चल रहे तनाव के दौरान फ्रांस जल्द ही भारत को राफेल विमानों की डिलीवरी करने वाला है। बताया जा रहा है कि तय समय से पहले फ्रांस राफेल लडाकू विमान को भारत भेजेगा। इस मामले से जानकार लोगों ने सोमवार को यह जानकारी दी।

Rafale Fighter Aircraft Coming Soon Amid Tension From China Expected To Arrive On This Day :

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक,27 जुलाई को छह राफेल लड़ाकू विमान अंबाला एयरबेस पर उतरेंगे। चार विमानों को पहली खेप में आना था। हालांकि, वायुसना ने इसको लेकर कोई पुष्टि नहीं की है। बता दें कि, भारत ने सितंबर, 2016 में फ्रांस के साथ 36 राफेल लड़ाकू विमानों की डील की थी।

यह डील तकरीबन 59 हजार करोड़ रुपये की थी। इन विमानों के जरिए भारत की वायुसेना को और ताकत मिलेगी। बताया जा रहा है कि लगभग 10 राफेल लड़ाकू विमान डसॉल्ट एविएशन द्वारा तैयार हैं। संयुक्त अरब अमीरात में अबू धाबी के पास अल ढफरा हवाई अड्डे पर एक स्टॉपओवर के साथ जुलाई-अंत में भारत में छह राफेल लड़ाकू विमानों के लाने की तैयारी चल रही है।

इन विमानों को भारतीय पायलट उड़ाकर लाएंगे। गौरतलब है कि पहले तय था कि 18 लड़ाकू विमानों को वायुसेना को फरवरी 2021 में दिया जाना था। इसके बाद अप्रैल-मई, 2022 में बाकी विमानों की डिलीवरी होनी थी। वहीं, फ्रांस ने पहले राफेल विमान को आठ अक्टूबर, 2019 को भारत को सौंप दिया था।

नई दिल्ली। भारत-चीन के बीच चल रहे तनाव के दौरान फ्रांस जल्द ही भारत को राफेल विमानों की डिलीवरी करने वाला है। बताया जा रहा है कि तय समय से पहले फ्रांस राफेल लडाकू विमान को भारत भेजेगा। इस मामले से जानकार लोगों ने सोमवार को यह जानकारी दी। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक,27 जुलाई को छह राफेल लड़ाकू विमान अंबाला एयरबेस पर उतरेंगे। चार विमानों को पहली खेप में आना था। हालांकि, वायुसना ने इसको लेकर कोई पुष्टि नहीं की है। बता दें कि, भारत ने सितंबर, 2016 में फ्रांस के साथ 36 राफेल लड़ाकू विमानों की डील की थी। यह डील तकरीबन 59 हजार करोड़ रुपये की थी। इन विमानों के जरिए भारत की वायुसेना को और ताकत मिलेगी। बताया जा रहा है कि लगभग 10 राफेल लड़ाकू विमान डसॉल्ट एविएशन द्वारा तैयार हैं। संयुक्त अरब अमीरात में अबू धाबी के पास अल ढफरा हवाई अड्डे पर एक स्टॉपओवर के साथ जुलाई-अंत में भारत में छह राफेल लड़ाकू विमानों के लाने की तैयारी चल रही है। इन विमानों को भारतीय पायलट उड़ाकर लाएंगे। गौरतलब है कि पहले तय था कि 18 लड़ाकू विमानों को वायुसेना को फरवरी 2021 में दिया जाना था। इसके बाद अप्रैल-मई, 2022 में बाकी विमानों की डिलीवरी होनी थी। वहीं, फ्रांस ने पहले राफेल विमान को आठ अक्टूबर, 2019 को भारत को सौंप दिया था।