रहस्यमय: इस सड़क से गायब हो जाती थी गाड़ियां, अक्सर टहलती दिखती थी एक महिला

अमेरिका, न्यूयार्क, सड़क, भूत-प्रेत, 666 सड़क, 491 सड़क, America, New York, street, ghost, 666 road, 491 road

Rahasymay Sadak Is Sadak Se Gayab Ho Jati Thi Gadiyan Aksar Tahalti Tikhti Thi Ek Mahila

न्यूयार्क: क्या आपको भी भूत प्रेतों पर यकीन होता है? यदि नहीं तो अमेरिका की इस रहस्यमय सड़क के बारे में सुनकर यकीन हो जाएगा। जी हां स्थानीय युवकों का कहना है कि कभी यहां अचानक से गाड़ियां गायब हो जाती थी।




अमेरिका की रूट नंबर 666 सड़क को ‘डेविल्स रोड या द डेविल्स हाई-वे’ कहकर बुलाते थे। हालांकि, मई 2013 में इसका नाम बदलकर 491 रख दिया गया। 193 मील लंबी इस सड़क को यह नंबर वर्ष 1926 में दिया गया था। लेकिन इस सड़क से कई गाड़ियां गायब हो गई। ईसाई धर्मावलंबी का मानना था कि इस हादसे के पीछे यह मनहूस नंबर है। क्योंकि जब इसका नाम बदला गया तो यहां दुर्घटना न के बराबर होने लगी। हालांकि, 1992 के बाद इस एरिजोना का इस रोड से संपर्क हट गया था।

बताया जाता है कि 1930 में एक दिन इस सड़क से गुजर रही काले रंग की पीएर्से-एरो रोडस्टर कार अचानक गायब हो गई। इसके बाद ये शैतानी कार के दिखने पर दर्जनों कार, ट्रक व मोटर-साइकिल का एक्सीडेंट हुआ। फीनिक्स के डॉक्टर एवेरी टीचेर पिछले कई सालों से इन दुर्घटनाओं पर रिपोर्ट जुटाकर पीएर्से ऐरो कार को शैतानी कार साबित करने में लगे हैं। टीचेर बताते हैं कि यहां वाहन रोकने वालों को कई बार शैतानी शक्तियों ने डराया है।




कुछ लोगों का यह भी दावा है कि इस सड़क पर एक महिला घूमती नजर आती है। कोई उसे कार में लिफ्ट दे देता है तो वह रास्ते में अचानक गायब हो जाती है। रास्ते में वाहन अचानक गायब होकर भी मीलों बाद वापस दिखने लगते थे। लेकिन वाहन में बैठे लोगों को पता नहीं चलता था कि इस दौरान क्या हुआ। हालांकि अभी उसका नाम बदल गया है और अब यह 491 के नाम से जानी जाने लगी है।

न्यूयार्क: क्या आपको भी भूत प्रेतों पर यकीन होता है? यदि नहीं तो अमेरिका की इस रहस्यमय सड़क के बारे में सुनकर यकीन हो जाएगा। जी हां स्थानीय युवकों का कहना है कि कभी यहां अचानक से गाड़ियां गायब हो जाती थी। अमेरिका की रूट नंबर 666 सड़क को 'डेविल्स रोड या द डेविल्स हाई-वे' कहकर बुलाते थे। हालांकि, मई 2013 में इसका नाम बदलकर 491 रख दिया गया। 193 मील लंबी इस सड़क को यह नंबर वर्ष 1926 में…