राष्ट्रीय क्रिकेट अकादमी के प्रमुख बनाए गए राहुल द्रविड़

rahul dravid
राष्ट्रीय क्रिकेट अकादमी के क्रिकेट प्रमुख बनाए गए राहुल द्रविड़

नई दिल्ली। टीम इंडिया के पूर्व क्रिकेटर, जूनियर टीम के कोच और क्रिकेट की दीवार कहे जाने वाले राहुल द्रविड़ को भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड यानी BCCI ने बड़ी जिम्मेदारी सौंपी है। राहुल द्रविड़ को राष्ट्रीय क्रिकेट अकादमी (एनसीए) का हेड ऑफ क्रिकेट नियुक्त किया गया है। भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) ने सोमवार को एक बयान जारी कर इस बात की जानकारी दी।

Rahul Dravid Appointed As Head Of National Cricket Academy :

सोमवार की शाम बीसीसीआइ ने इस बात का ऐलान किया है कि राहुल द्रविड़ बेंगलुरु स्थिति राष्ट्रीय क्रिकेट अकादमी के हेड ऑफ क्रिकेट ऑपरेशंस बनाए गए हैं। राहुल द्रविड़ मौजूदा समय में अंडर 19 टीम, ए टीम के मुख्य कोच है, जबकि विराट कोहली की कप्तानी वाली टीम इंडिया के वे ओवरशीज बैटिंग कंसल्टेंट हैं। राहुल द्रविड़ ज्यादातार युवाओं की प्रतिभा उभारने का काम कर रहे हैं।

टीम इंडिया के लिए 500 से ज्यादा अंतरराष्ट्रीय मैच खेल चुके राहुल द्रविड़ ने 24 हजार से ज्यादा इंटरनेशनल रन बनाए हैं। टीम इंडिया से रिटायरमेंट लेने के कुछ समय बाद ही उन्होंने कोचिंग करियर को अपनाया था, जिसमें वे सफल हुए और इस तरह बीसीसीआइ ने अब उन्हें नेशनल क्रिकेट एकेडमी के मुखिया की जिम्मेदारी दी है।

नई दिल्ली। टीम इंडिया के पूर्व क्रिकेटर, जूनियर टीम के कोच और क्रिकेट की दीवार कहे जाने वाले राहुल द्रविड़ को भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड यानी BCCI ने बड़ी जिम्मेदारी सौंपी है। राहुल द्रविड़ को राष्ट्रीय क्रिकेट अकादमी (एनसीए) का हेड ऑफ क्रिकेट नियुक्त किया गया है। भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) ने सोमवार को एक बयान जारी कर इस बात की जानकारी दी। सोमवार की शाम बीसीसीआइ ने इस बात का ऐलान किया है कि राहुल द्रविड़ बेंगलुरु स्थिति राष्ट्रीय क्रिकेट अकादमी के हेड ऑफ क्रिकेट ऑपरेशंस बनाए गए हैं। राहुल द्रविड़ मौजूदा समय में अंडर 19 टीम, ए टीम के मुख्य कोच है, जबकि विराट कोहली की कप्तानी वाली टीम इंडिया के वे ओवरशीज बैटिंग कंसल्टेंट हैं। राहुल द्रविड़ ज्यादातार युवाओं की प्रतिभा उभारने का काम कर रहे हैं। टीम इंडिया के लिए 500 से ज्यादा अंतरराष्ट्रीय मैच खेल चुके राहुल द्रविड़ ने 24 हजार से ज्यादा इंटरनेशनल रन बनाए हैं। टीम इंडिया से रिटायरमेंट लेने के कुछ समय बाद ही उन्होंने कोचिंग करियर को अपनाया था, जिसमें वे सफल हुए और इस तरह बीसीसीआइ ने अब उन्हें नेशनल क्रिकेट एकेडमी के मुखिया की जिम्मेदारी दी है।