केवल 15 उद्यमियों और नरेंद्र मोदी के आए हैं अच्छे दिन: राहुल गांधी

शामली: कांग्रेस के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने बघरा बस स्टैंड पर वीआईपी बस में ही भाषण दिया। उन्होंने कहा कि देश में केवल 15 उद्यमियों और नरेंद्र मोदी के अच्छे दिन आए हैं। इन उद्यमियों का प्रधानमंत्री ने एक लाख 10 हजार करोड़ रपए का कर्ज माफ कर दिया। इतने में एक साल के लिए मनरेगा स्कीम चलाई जा सकती थी। यूपी का गन्ना किसान बेहाल है। उप्र सरकार ने चीनी मिलों को बड़े उद्योगपतियों को बेच दिया है। युवा बेरोजगारी से कराह रहे हैं।



बघरा बस स्टैंड पर भीड़ ने राहुल गांधी का काफिला रोक लिया। मुख्य मार्ग पर ही मंच बनाया गया था, लेकिन राहुल गांधी वीआईपी बस से नीचे नहीं उतरे। युवा उनसे हाथ मिलने की होड़ में रहे। राहुल गांधी ने भीड़ की जिज्ञासा को देखते हुए बाइक हाथ में लेते हुए युवाओं से शांत रहने की अपील की। उन्होंने दो युवाओं से नाम पूछा। एक ने गोविंद और दूसरे ने रिहान बताया। दोनों से कहा कि बैंक में खाता है जवाब मिला हां है। राहुल गांधी ने कहा क्या खाते में 15 लाख रपए आए, जवाब आया नहीं। रोजगार मिला, युवा बोले नहीं मिला। इस पर राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर तंज सकते हुए कहा कि केवल देश में प्रधानमंत्री और बड़े उद्यमियों के अच्छे दिन आए हैं। 15 उद्यमियों के एक लाख 10 हजार करोड़ रपए का कर्ज माफ कर दिया, जबकि इस धनराशि से एक साल तक मनरेगा योजना को चलाया जा सकता है।

उधर शामली में कांग्रेस के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने मंगलवार को केन्द्र सरकार पर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि सरकार किसानों से गन्ना तो ले लेती है, लेकिन उनका बकाया नहीं देती। किसान भुखमरी के कगार पर आ चुका है, बच्चे बेरोजगार भटक रहे हैं, लेकिन सरकार कुछ नहीं कर रही है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस के हाथ में यूपी की कमान सौंपें तो पांच साल में यूपी को बदल देंगे। कांग्रेस ने किसानों का 70 हजार करोड़ का कर्ज माफ किया था, लेकिन केंद्र सरकार ने किसानों के बजाय 15 उद्योगपतियों का एक लाख दस हजार करोड़ रपए माफ कर दिया। उन्होंने कहा कि 7 हजार किलोमीटर की यात्रा पूरी होने के बाद वह इस बारे में मोदी सरकार को फार्म भरकर भेजेंगे। उन्होंने कहा कि वे दूसरों की तरफ झूठे वादे नहीं करते, सरकार आने के दस दिनों के भीतर किसानों का कर्ज माफ किया जाएगा। वह शहर के आरके पीजी कालेज मैदान में आयोजित खाट सभा में किसानों को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर कटाक्ष करते हुए कहा कि उनके शासनकाल में किसान त्रस्त है, किसानों के गन्ने का भुगतान अभी तक नहीं हुआ।

शुगर मिल किसानों से गन्ना ले लेते हैं, लेकिन पैसा नहीं देते। उन्होंने सपा, बसपा पर प्रहार करते हुए कहा कि इन पार्टियों ने छोटे क्रशर खत्म कर किसानों की कमर तोड़ दी है और इन सरकारों ने मिलों से मोनोपोली शुरू कर किसानों के आगे एक दीवार खड़ी कर दी। वर्ष 2008 में हमारी सरकार के दौरान हमने 10 दिनों के अंदर किसानों का 70 हजार करोड़ का कर्ज माफ किया था। मोदी जी ने 15 लोगों का एक लाख दस हजार करोड़ रपए माफ कर किसानों के साथ बेईमानी की है।उधर नानौता में कांग्रेस के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा कि पिछले 27 वर्षो से उप्र. में जो सरकारें चल रही हैं उनके चलते प्रदेश का विकास नहीं हो पाया है। मंगलवार की शाम करीब 5 बजे यात्रा के नानौता पंहुचने पर कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने उनका स्वागत किया।




अपने केवल 5 मिनट के भाषण में राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री को अपना निशाना बनाते हुए कहा कि प्रधानमंत्री ने देश के दो करोड़ युवाओं को रोजगार देने की बात कहीं थी लेकिन आज तक एक भी युवा को रोजगार मुहैया नहीं करा पाए। उन्होनें कहा कि मोदी सरकार में जो एक लाख 10 हजार करोड रूपया किसानों को देना था वो सारा पैसा केवल देश के 15 उद्योगपतियों को सौंप डाला।